ताज़ा खबर
 

संस्‍कृत को आगे बढ़ाने के लिए स्‍मृति ईरानी के मंत्रालय ने बनाया पैनल, 3 महीने में मांगा एक्‍शन प्‍लान

स्‍मृति ईरानी की अगुवाई वाले मंत्रालय ने समिति से कहा है कि वह ऐसे उपाय सुझाए जिनके जरिए संस्‍कृत को गणित, भौतिकी, रसायन, मेडिकल साइंस और कानून जैसे विषयों के साथ पढ़ाया जा सके।

Author नई दिल्‍ली | November 23, 2015 12:06 PM
मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने संस्‍कृत को गणित, भौतिकी, रसायन, मेडिकल साइंस और कानून जैसे विषयों के साथ पढ़ाए जाने से जुड़े सुझाव मांगे हैं।

मानव संसाधन मंत्रालय (एचआरडी) ने 13 सदस्‍यों वाली एक विशेषज्ञ समिति बनाई है। इसे संस्‍कृत भाषा को लोकप्रिय बनाने के उपाय सुझाने का काम दिया गया है। समिति का प्रमुख पूर्व मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त एन. गोपालस्‍वामी को बनाया गया है। वह इन दिनों तिरुपति में राष्‍ट्रीय संस्‍कृत विद्यापीठ के कुलपति हैं।

स्‍मृति ईरानी की अगुवाई वाले मंत्रालय ने समिति से कहा है कि वह ऐसे उपाय सुझाए जिनके जरिए संस्‍कृत को गणित, भौतिकी, रसायन, मेडिकल साइंस और कानून जैसे विषयों के साथ पढ़ाया जा सके। स्‍कूलों और विश्‍वविद्यालयों में संस्‍कृत पढ़ाए जाने के तौर-तरीकों में बदलाव से जुड़े सलाह भी समिति से मांगे गए हैं। दस साल में संस्‍कृत को कैसे आगे बढ़ाया जा सकता है, इस पर एक्‍शन प्‍लान तैयार करने के लिए भी समिति से कहा गया है।

समिति को तीन महीने में रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है। गोपालस्‍वामी ने बताया कि अभी उन्‍हें इस बारे में एचआरडी से लिखित प्रस्‍ताव नहीं आया है। प्रस्‍ताव आते ही वह पहली बैठक जल्‍दी से जल्‍दी बुलाएंगे। समिति के सदस्‍यों में नीति आयोग के सदस्‍य बिबेक देवरॉय, भारत सरकार के पूर्व सचिव वीवी भट्ट, नेशनल स्किल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन के अध्‍यक्ष डॉ. रामदोराई, दिल्‍ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रमेश भारद्वाज, यूजीसी चेयरमैन वेद प्रकाश और आरएसएस से जुडे संस्‍कृत भारती के सीके शास्‍त्री शामिल हैं।

Read Also:

कोर्ट ने DU, EC से मांगी स्‍मृति ईरानी की डिग्री, टि्वटर पर उड़ रहा HRD मिनिस्‍टर का मजाक

स्मृति ईरानी को संघ की नसीहत, टॉयलेट बनाने से नहीं सुधरेगा शिक्षा का स्‍तर 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App