ताज़ा खबर
 

कश्मीर: सरकार का रबर स्टाम्प बना PSA बोर्ड, 230 में से केवल 3 ऑर्डर किया है खारिज

रविवार देर रात, जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारूख अब्दुल्ला पर पीएसए लगाकर उन्हें घर में हिरासत में रखा गया था। उनके घर को ही जेल घोषित कर दिया गया था। इस आदेश के क्रियान्वयन की इजाजत पीएसए बोर्ड ने दी थी।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत लोगों को हिरासत में रखने के लिए 5 अगस्त से लेकर अभी 230 आदेश जारी किए हैं। इनमें से सिर्फ तीन को ही पीएसए अडवाइजरी बोर्ड ने खारिज किया है। इस बोर्ड का काम छह हफ्ते के अंदर इन आदेशों को रिव्यू करना और इसके बाद इजाजत देना या इसे खारिज करना होता है।

रविवार देर रात, जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारूख अब्दुल्ला पर पीएसए लगाकर उन्हें घर में हिरासत में रखा गया था। उनके घर को ही जेल घोषित कर दिया गया था। इस आदेश के क्रियान्वयन की इजाजत पीएसए बोर्ड ने दी थी। बता दें कि इसके बाद ही सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को अब्दुल्ला से जुड़ी याचिका पर सुनवाई की थी।

बता दें कि पीएसए जैसे सख्त कानून के तहत किसी भी व्यक्ति को बिना ट्रायल या आरोपित किए अधिकतम दो साल तक हिरासत में रखा जा सकता है। पीएसए बोर्ड से अपेक्षा की जाती है कि यह सरकार द्वारा इस कानून के इस्तेमाल के मामले में निष्पक्षता और संतुलन बनाए रखे। शायद तभी इसकी नियुक्ति के लिए जुडिशरी को भी इसका हिस्साा बनाया गया था। इस बोर्ड के चेयरपर्सन की नियुक्ति सिर्फ जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस से सलाह के बाद ही की जा सकती थी।

हालांकि, महबूबा मुफ्ती की अगुआई वाली पीडीपी और बीजेपी की गठबंधन सरकार के आखिरी दिनों में एक बड़ा फैसला लिया गया। सरकार गिरने से ऐन पहले मई 2018 में एक ऑर्डिनेंस लाकर जुडिशरी को इस प्रक्रिया से बाहर कर दिया गया और नौकरशाहों की एक कमेटी को समुचित अधिकार दे दिए गए। ऑर्डिनेंस को गवर्नर एनएन वोहरा ने 22 मई 2018 को मंजूरी दे दी।

वर्तमान में इस तीन सदस्यीय अडवाइजरी बोर्ड की अगुआई जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट के पूर्व जज जनक राज कोटवाल कर रहे हैं। कोटवाल की इस पद पर नियुक्ति 30 जनवरी को हुई थी। स्टेट एडमिनिस्ट्रेटिव काउंसिल को उनकी नियुक्ति के लिए गवर्नर सत्यपाल मलिक की ओर से इजाजत मिली थी। इससे पहले, यह पद मार्च 2018 से खाली था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 एम्बुलेंस नहीं पहुंच सकती थी, मरीज को टांगकर खुद पांच किलोमीटर ले गए डॉक्टर
2 भाजपाई मंत्री ने कांग्रेस नेताओं को कहा हिजड़ा, बोले- 50 हजार मुस्लिम वोट खोने के डर से चाह कर भी नहीं जॉइन कर रहे थे बीजेपी
3 PM से मिलने दिल्ली आ रही थीं ममता बनर्जी, एयरपोर्ट पर MODI की पत्नी जसोदाबेन दिखीं तो मिलने दौड़ पड़ीं, तोहफे में दी साड़ी
जस्‍ट नाउ
X