ताज़ा खबर
 

गुजरात में नौवीं कक्षा की परीक्षा में पूछा गया प्रश्न- ‘गांधीजी ने आत्महत्या कैसे की?’

एक अधिकारी ने बताया कि ‘सुफलाम शाला विकास संकुल’ के बैनर तले चलने वाले विद्यालयों में नौवीं कक्षा की आंतरिक परीक्षा में पूछा गया, ‘‘गांधीजी ने आत्महत्या कैसे की?’

Author नई दिल्ली | Updated: October 13, 2019 8:41 PM
परीक्षा में यह अटपटा प्रश्न पूछे जाने का मामला सामने आने के बाद अधिकारियों ने इसकी जांच शुरू कर दी है।(सांकेतिक तस्वीर)

गुजरात में नौंवीं कक्षा की आंतरिक परीक्षा में यह चौंकाने वाला प्रश्न पूछा गया है कि ‘गांधीजी ने आत्महत्या कैसे की?’ परीक्षा में यह अटपटा प्रश्न पूछे जाने का मामला सामने आने के बाद अधिकारियों ने इसकी जांच शूरू कर दी है।

साथ ही, इसके अलावा 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों से पूछे गए एक और प्रश्न ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को हैरान कर दिया है। इस प्रश्न में कहा गया है– ‘‘अपने इलाके में शराब की बिक्री बढ़ने एवं शराब तस्करों द्वारा पैदा की जाने वाली परेशानियों के बारे में शिकायत करते हुए जिला पुलिस प्रमुख को एक पत्र लिखें।’’ उल्लेखनीय है कि गुजरात में शराब पर पूरी तरह से पाबंदी है। एक अधिकारी ने बताया कि ‘सुफलाम शाला विकास संकुल’ के बैनर तले चलने वाले विद्यालयों में नौवीं कक्षा की आंतरिक परीक्षा में पूछा गया, ‘‘गांधीजी ने आत्महत्या कैसे की?’ सुफलाम शाला विकास संकुल कुछ स्व वित्तपोषित विद्यालयों और शैक्षणिक संस्थानों का संगठन है, जिन्हें गांधीनगर में सरकारी अनुदान मिलता है।

गांधीनगर के जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) ने बताया, ‘‘ स्व वित्तपोषित स्कूलों के एक समूह ने और अनुदान प्राप्त करने वाले स्कूलों ने ये दोनों प्रश्न शनिवार को हुई अपनी आंतरिक परीक्षाओं में शामिल किया था। ये प्रश्न बहुत आपत्तिजनक हैं और हमने इसकी जांच शुरू कर दी है। रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी।’’ उन्होंने बताया कि सुफलाम शाला विकास संकुल के बैनर तले संचालित होने वाले इन स्कूलों के प्रबंधन ने ये प्रश्न पत्र तैयार किए थे और इनका राज्य शिक्षा विभाग से कोई लेना-देना नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘भारत न कभी हिन्दू राष्ट्र था, न कभी होगा’, RSS चीफ पर ओवैसी का पलटवार, बोले- मोहन भागवत नहीं मिटा सकते देश का इतिहास
2 ‘‘56 इंच के सीने वाले’’ व्यक्ति ने जो कर दिखाया, वो पिछले प्रधानमंत्री नहीं कर सके: अमित शाह 
3 बीजेपी सांसद ने अंग्रेजी चैनल को ललकारा- ‘मुझसे लड़ना चाहते हो, आओ मैं तैयार हूं’