ताज़ा खबर
 

कारोबारी कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान ने ईरान से किडनैप किया और जासूस बताकर दुनिया के सामने पेश किया-राजनाथ सिंह

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान पर आरोप लगाया कि पाकिस्तानी अधिकारियों ने ईरान से कुलभूषण जाधव को किडनैप किया है।

वीडियो से निकाली गई कुलभूषण जाधव की तस्वीर।

भारत ने कहा है कि कुलभूषण जाधव जासूस नहीं है और उसके पास एक वैध भारतीय वीजा है। मंगलवार (11 अप्रैल) को गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में कहा कि कुलभूषण जाधव के पास भारत का वैध वीजा है तो वह जासूस कैसे हो सकता है।  राजनाथ सिंह ने कहा, ‘‘ पाकिस्तान द्वारा जाधव को फांसी की सजा सुनाए जाने पर पूरा देश न केवल चिंतित है बल्कि आक्रोशित भी है। सरकार इस सजा की कड़ी निंदा करती है जो कि कानून और न्याय के मूलभूत सिद्धांतों को ध्यान में रखे बिना सुनायी गयी है।’’ राजनाथ सिंह ने सदन में कहा, ‘‘ कुलभूषण जाधव को बचाने के लिए भारत सरकार जो भी करना होगा , करेगी। कुलभूषण के साथ न्याय होगा।’’ गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि जाधव भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी हैं जो ईरान के चाबहार में छोटा मोटा कारोबार करते थे और इसमें एक स्थानीय ईरान नागरिक उनका पार्टनर भी था। कारोबार के सिलसिले में उनका चाबहार में आना जाना लगा रहता था। मार्च 2016 में पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों ने चाबहार से जाधव का अपहरण किया और पाकिस्तानी मीडिया के समक्ष उन्हें भारतीय जासूस के रूप में पेश किया गया।

इससे पहले लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने सदन में इस मुद्दे को उठाया। मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि, अगर कुलभूषण जाधव को फांसी होती है तो कांग्रेस उसे सोची समझी हत्या कहेगी। खड़गे ने कहा कि अगर केन्द्र सरकार उसे नहीं बचा पाती है तो ये केन्द्र की बीजेपी सरकार की कमजोरी होगी। AIMIM के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि पाकिस्तान की जिस सैन्य अदालत ने कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाई है वो सिर्फ दिखावे भर के लिए अदालत है, इस अदालत ने बिना किसी सबूत को कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा दे दी है। ओवैसी ने कहा कि सरकार को अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर उसे यहां सुरक्षित वापस लाना चाहिए। इससे पहले दिल्ली में जब भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित से इस सवाल का जवाब पूछा गया तो वे पत्रकारों के प्रश्न का जवाब दिये बिना आगे बढ़ गये।

देखिए संबंधित वीडियो

बता दें कि पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने भारतीय नेवी के पूर्व ऑफिसर कुलभूषण जाधव को जासूसी के आरोप में फांसी की सजा सुनाई है। पाकिस्तान का आरोप है कि कुलभूषण जाधव पाकिस्तान में जासूसी कर रहा था और पाकिस्तान के खिलाफ विध्वंसक गतिविधियों को अंजाम दे रहा था। वहीं पाकिस्तान की ओर कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाये जाने का ऐलान होने के बाद देश भर में पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है। महाराष्ट्र के नागपुर में लोगों ने पाकिस्तान का झंडा फूंका और कहा कि अगर कुलभूषण जाधव को फांसी दी जाती है तो भारत को पाकिस्तान को सबक सिखाना चाहिए। दिल्ली में भी पाकिस्तानी दूतावास के नजदीक प्रदर्शन किया गया और कुलभूषण जाधव की पाकिस्तान से सुरक्षित वापसी की मांग की गई।

 

कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान में मौत की सजा मिलने पर भारत ने अख्तियार किया कड़ा रुख; पाकिस्तानी कैदियों की रिहाई रोकी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App