ताज़ा खबर
 

पंजाब में बोले राजनाथ सिंह- वोट नहीं देना हो तो मत दीजिए, लेकिन जूते तो मत फेंकिए

केंद्र सरकार के काम की तारीफ में उन्‍होंने कहा कि ढार्इ साल के कार्यकाल में भ्रष्‍टाचार का एक भी मामला नहीं है।
राजनाथ ने पंजाब में ड्रग्‍स की समस्‍या के लिए पाकिस्‍तान को जिम्‍मेदार ठहराया।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पंजाब में एक रैली के दौरान कहा कि वोट नहीं देना तो मत दीजिए लेकिन जूते तो मत फेंकिए। पंजाब के अबोहर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए गृहमंत्री ने कहा, ‘आपको वोट ना देना हो तो मत दीजिए, लेकिन क्‍या आप उनपे लाठी चलाएंगे, जूते फेंकेंगे?” उन्‍होंने यह बयान पंजाब के मुख्‍यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर जूता और उपमुख्‍यमंत्री सुखबीर बादल पर पथराव की घटनाओं के संबंध में दिया। राजनाथ ने पंजाब में ड्रग्‍स की समस्‍या के लिए पाकिस्‍तान को जिम्‍मेदार ठहराया। उन्‍होंने पाक को चेतावनी देते हुए कहा, ”पाक यहां पे कोशिश करता है ड्रग भेजने की। मैं होम मिनिस्‍टर होने के तौर पे यकीन दिलाता हूं कि जो इसे बढ़ावा देगा उसकी मैं खाट खड़ी कर दूंगा।”

सर्जिकल स्‍ट्राइक की घटना की याद दिलाते हुए उन्‍होंने कहा, ”हम केवल इस पार नहीं लड़ सकते। जरुरत पड़ेगी तो उस पार भी लड़ सकते हैं। करके दिखा दिया हमने।” केंद्र सरकार के काम की तारीफ में उन्‍होंने कहा कि ढार्इ साल के कार्यकाल में भ्रष्‍टाचार का एक भी मामला नहीं है। पंजाब में भाजपा और अकाली दल मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं। दोनों दलों की सरकार 10 साल से यहां पर सत्‍ता में है। इस बार कांग्रेस और आम आदमी पार्टी से उन्‍हें कड़ी टक्‍कर मिल रही है। पंजाब में भाजपा 23 सीटों पर चुनाव लड़ती है। पंजाब सरकार पर ड्रग्‍स स्‍मगलर्स को शह देने का आरोप लगा है। इस बार के चुनावों में ड्रग्‍स का मुद्दा सबसे ऊपर है। भाजपा सर्जिकल स्‍ट्राइक के मुद्दे के साथ मैदान में है। पंजाब की सीमा पाकिस्‍तान से लगती है, इसके चलते भाजपा इस मुद्दे को भुनाना चाहती है।

गौरतलब है कि 18 सितंबर को जम्‍मू-कश्‍मीर के उरी स्थित आर्मी कैंप पर आतंकी हमले के बाद भारतीय सेना ने पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर में आतंकी संगठनों के लॉन्‍च पैड्स पर सर्जिकल स्‍ट्राइक को अंजाम दिया था। डायरेक्‍टर जनरल आफ मिलिट्री ऑपरेशं(डीजीएमओ) ने बताया था कि इस हमले में आतंकियों को गंभीर नुकसान हुआ था। मगर सर्जिकल स्‍ट्राइक्‍स के बाद से सीमा पार से पाकिस्‍तानी फौजें लगातार संघर्षविराम का उल्‍लंघन करती रही हैं। तब से 40 से ज्‍यादा बार पाकिस्‍तान की तरफ से फायरिंग की गई है, जिसमें सात भारतीय जवान शहीद हुए।

 

पंजाब: रैली के दौरान राजनाथ सिंह बोले- “वोट नहीं देना तो मत दीजिए, लेकिन जूता मत फेंकिए”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S
    sal
    Jan 24, 2017 at 5:46 pm
    शू खाने वाले काम किया है तो शू हे milega
    (0)(0)
    Reply
    1. A
      Avinash
      Jan 24, 2017 at 1:57 pm
      " खाट खड़ी कर दूंगा" - अब तक क्या कर रहे थे?
      (0)(0)
      Reply
      1. B
        Banshi
        Jan 25, 2017 at 5:54 am
        अभी तक कितनी खाट कड़ी की साले !!
        (0)(0)
        Reply
        1. B
          Banshi
          Jan 25, 2017 at 5:57 am
          काम धंधा कुछ हे नहीं, बस फेकने आ जाते हो जहा चाहे वहापे, देश को अँधा बना दिया हे तुमने, एक नौजवान भी 55 साल के आदमी का मुखोटा लगा के घूम रहा हे, इससे बड़ी नीच हरकत और युवाओ का अंधापन नहीं हो सकता !!
          (0)(0)
          Reply
          1. D
            Dinesh Singh
            Jan 24, 2017 at 5:44 pm
            इलेक्शन तक का वेट. अब इलेक्शन्स आ गए है देखिएगा कैसे बातो के सैलाब लाएंगे.
            (0)(0)
            Reply
            1. D
              Dinesh Singh
              Jan 24, 2017 at 5:45 pm
              हुंह... भाषणों के आलावा भी कुछ आता है तुम लोगो को? सब पाकिस्तान ही करता है तो तुम लोग क्या खाली बिरयानी और सेवैंइया खाने जाते हो पाकिस्ता.
              (0)(0)
              Reply
              1. A
                ASHISH
                Jan 24, 2017 at 8:36 am
                ी बात है नील जी
                (0)(0)
                Reply
                1. I
                  indrajeet maurya
                  Jan 24, 2017 at 12:26 pm
                  11 march ko dekh lena. sari galatfahmi dur ho jayegi
                  (0)(1)
                  Reply
                  1. K
                    Kanisk K
                    Jan 24, 2017 at 10:18 am
                    साले ये लोग किस बात के लिए जिम्मेदार है ....ये तो बताये..जब कुछ कर नहीं प् रहे तो हताशा में कुछ भी बोल रहे है ...२०१९ में मोदी तो गियो ....वैसे उप से भी गियो
                    (2)(2)
                    Reply
                    1. D
                      Dev Verma
                      Jan 24, 2017 at 7:59 pm
                      को सपनो में भी शीषदाय ही नज़र आते हैं......कैट्स कैन ड्रीम ऑफ़ लेफ्ट ओवर मीट्स....कीप ड्रीमिंग.
                      (0)(0)
                      Reply
                    2. N
                      neel
                      Jan 24, 2017 at 8:23 am
                      ी बात
                      (0)(0)
                      Reply
                      1. Load More Comments