ताज़ा खबर
 

अटल बिहारी वाजपेयी के आवास में शिफ्ट हुए गृहमंत्री अमित शाह, पूर्व PM के निधन बाद परिवार ने छोड़ दिया था बंगला

अटल जी की दत्तक पुत्री ने पीएमओ को एक चिट्ठी लिखी थी, जिसमें कहा गया था कि पूर्व पीएम को आवंटित किया गया 6-ए, कृष्णा मेनन मार्ग स्थित बंगला छोड़कर वे लोग लोग निजी आवास पर जाना चाहते हैं।

Amit Shah, Home Minister of India, BJP, NDA, Shift, Former PM, Bharat Ratna, Late Atal Bihari Vajpayee, Bungalow, Krishna Menon Marg, New Delhi, State News, India News, Latest News, Hindi Newsतस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फाइल फोटो)

गृह मंत्री अमित शाह मंगलवार (27 अगस्त, 2019) को दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के राजधानी में 6ए, कृष्णा मेनन मार्ग स्थित सरकारी आवास में शिफ्ट हो गए। शाह इससे पहले तक 11, अकबर रोड स्थित आवास में रह रहे थे। उन्हें वाजपेयी का बंगला 2019 के आम चुनाव में बीजेपी और मोदी को प्रचंड बहुमत मिलने के बाद आवंटित हुआ था।

दरअसल, कृष्णा मेनन मार्ग स्थित यह आवास वाजपेयी के निधन के बाद से खाली पड़ा था। पूर्व पीएम के देहांत के बाद उनके परिवार वालों ने इसे खाली कर दिया था। अटल जी की दत्तक पुत्री नमिता भर्टाचार्य ने इसके साथ ही तब स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) कमांडोज वाली सुरक्षा भी छोड़ दी थी।

उन्होंने इन दोनों चीजों के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) को चिट्ठी लिखी थी, जिसमें कहा गया था कि वाजपेयी को आवंटित किया गया 6-ए, कृष्णा मेनन मार्ग स्थित बंगला छोड़कर वे लोग निजी आवास पर जाना चाहते हैं।

लुटियंस दिल्ली में कृष्णा मेनन मार्ग पर बना सरकारी बंगला लगभग 14 साल तक अटल बिहारी वाजपेयी के पास रहा। 2004 में बीजेपी जब कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूपीए से चुनाव हार गई थी, उसके बाद वह इस बंगले में शिफ्ट हुए थे। बताया जाता है कि पहले इस बंगले का नंबर आठ हुआ करता था, पर वहां आने के बाद अटल ने इसे बदलकर 6ए करा दिया था।

जेटली के घर पहुंचे मोदी-शाहः पीएम मोदी मंगलवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के परिजन से मिलने के उनके घर पहुंचे, जहां उन्होंने दिवंगत नेता को श्रद्धांजलि दी। बता दें कि जेटली (66) का बीते शनिवार को एम्स में निधन हो गया था। ताजा मामले में गृह मंत्री अमित शाह पहले ही जेटली के आवास पर पहले से ही थे और पूर्व केंद्रीय मंत्री के बेटे रोहन जेटली के साथ उन्होंने वहां पीएम की अगवानी की।

मोदी ने जेटली की पत्नी और बच्चों से बात की। पीएम, जेटली के आवास पर करीब 20 से 25 मिनट तक रुके। बीजेपी के वरिष्ठ नेता जेटली का जब निधन हुआ, जब मोदी तीन देशों के विदेश दौर पर थे। हालांकि, उन्होंने जेटली की पत्नी और बेटे रोहन से शनिवार को फोन पर बात की थी।

Next Stories
1 चर्चा में UP गवर्नर आनंदीबेन पटेल: योगी आदित्यनाथ सरकार से लिया नरेंद्र मोदी सरकार की योजनाओं का हिसाब
2 VIDEO: बुजुर्गों ने किया स्कूल का रियूनियन, सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना 70 साल की महिला का डांस
3 शत्रुघ्न सिन्हा के बदल गए तेवर! एक महीने में PM मोदी की दो बार प्रशंसा, अब बोले- तेरा जादू चल गया
ये पढ़ा क्या?
X