ताज़ा खबर
 

CAA पर राहुल बाबा एंड कंपनी कांव-कांव कर रही, लेकिन डंके की चोट पर कहता हूं इसे वापस नहीं लेंगे: अमित शाह

Lucknow Amit Shah Rally: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि अखिलेश बाबू एंड कंपनी सुन लो, हमें जितनी गालियां देनी हैं दो, हमारी पार्टी को जितनी गालियां देनी हैं दो मगर भारत माता के खिलाफ देश में नारे जो लगाएगा उसे जेल में डाला जाएगा।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह

Amit Shah Lucknow Rally: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार (21 जनवरी) को उत्तर प्रदेश के राजधानी लखनऊ में नागरिकता कानून (CAA) के समर्थन में एक बड़ी रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने विपक्ष (कांग्रेस, SP, BSP) पर एक के बाद एक कई हमले किए। उन्होंने कहा कि मैं आज स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि यह कानून नागरिकता लेने का नहीं बल्कि नागरिकता देने का कानून है। इस कानून से किसी की भी नागरिकता छीनी नहीं जाएगी। शाह ने कहा कि विपक्षी पार्टियों द्वारा CAA को लेकर आम जनता के बीच भ्रम फैलाने का काम किया जा रहा है। इस मौके यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ समेत कई दिग्गज नेता मंच पर मौजूद थे। शाह ने कहा कि मैं आज डंके की चोट पर कहने आया हूं कि जिसको विरोध करना है करे, CAA वापस नहीं होने वाला है।

विपक्ष पर यूं साधा निशाना: अमित शाह ने कहा कि जब देश आजाद हुआ, कांग्रेस के पाप के कारण धर्म के आधार पर भारत मां के दो टुकड़े हो गए।16 जुलाई 1947 को कांग्रेस पार्टी ने प्रस्ताव पास करके धर्म के आधार पर विभाजन को स्वीकार किया। उन्होंने आगे कहा कि पीएम नरेन्द्र मोदी CAA लेकर आए हैं। कांग्रेस, ममता बनर्जी, अखिलेश यादव, मायावती, केजरीवाल सभी इस बिल के खिलाफ भ्रम फैला रहे हैं। बता दें कि रैली की शुरुआत जय श्री राम के नारों के साथ हुई थी। इसके बाद अमित शाह ने कहा कि CAA के खिलाफ राहुल बाबा एन्ड कंपनी, ममता बनर्जी, अखिलेश यादव, मायावती, सारी की सारी ब्रिगेड कांव-कांव करने लगी है। 

अखिलेश यादव को कही यह बात: शाह ने कहा कि अखिलेश बाबू एंड कंपनी सुन लो, हमें जितनी गालियां देनी हैं दो, हमारी पार्टी को जितनी गालियां देनी हैं दो मगर भारत माता के खिलाफ देश में नारे जो लगाएगा उसे जेल में डाला जाएगा। उन्होंने कहा कि “मैं जनता से पूछने आया हूं कि जो भारत माता के एक हजार टुकड़े करने की बात करे उसको जेल में डालना चाहिए या नहीं? मोदी जी ने उनको जेल में डाला और ये राहुल एंड कंपनी कह रही है कि ये वाणी स्वतंत्रता का अधिकार है।”

शरणार्थियों पर कही यह बात: अमित शाह ने कहा कि मैं वोट बैंक के लोभी नेताओं को कहना चाहता हूं, आप इनके कैंप में जाइए, कलतक जो सौ-सौ हेक्टेयर के मालिक थे वे आज एक छोटी सी झोपड़ी में परिवार के साथ भीख मांगकर गुजारा कर रहे। उन्होंने आगे इस बिल को लोकसभा में मैंने पेश किया है। मैं विपक्षियों से कहना चाहता हूं कि आप इस बिल पर सार्वजनिक रूप से चर्चा कर लो। ये अगर किसी भी व्यक्ति की नागरिकता ले सकता है, तो उसे साबित करके दिखाओ।

Next Stories
1 खट्टर-विज के टकराव में फंस गए अफसर, इनपुट न दे पाने पर नपे CID चीफ, दाखिल हुई चार्जशीट
2 सांसदों, विधायकों की अयोग्यता पर SC का मोदी सरकार को सुझाव- स्पीकर नहीं, स्वतंत्र संस्था ले फैसला
3 ‘अयोध्या में मुस्लिमों को दूसरी जमीन मिली तो आतंक की समर्थक कहलाएंगी कोर्ट और सरकार’, बोले पुरी के शंकराचार्य
ये पढ़ा क्या?
X