ताज़ा खबर
 

‘मैं बड़े दिल वाला आदमी हूं, ऐसे प्रतिबंध नहीं लगाऊंगा’, जानें किस बात पर बोले अमित शाह

वित्त मंत्रालय में पत्रकारों के प्रवेश पर रोक के बाद पत्रकारों को आशंका थी कि सरकार के अन्य मंत्रालयों में भी यह आदेश अघोषित रूप से लागू हो जाएगा। हालांकि, गृहमंत्री अमित शाह ने इस संबंध में स्थिति साफ कर दी है।

Author नई दिल्ली | Updated: July 21, 2019 8:07 AM
Home Minister Amit Shah, BJP President, large-hearted man, exclusive news, news breaks, Finance Ministry, PIB accredited journalist, North Block offices, all government offices, Parliament’s Central Hall, Finance Minister Nirmala Sitharaman, india news, Hindi news, news in Hindi, latest news, today news in Hindiकेंद्रीय मंत्री ने कहा कि वह पत्रकारों के प्रवेश पर रोक नहीं लगाएंगे। (फाइल फोटो)

राजधानी दिल्ली के पत्रकारों के लिए अब एक्सक्लूसिव खबर निकाल पाना मुश्किल हो रहा है। इसका कारण सामान्य सूत्रों का मीडिया से बात करने को लेकर डर है। इससे पहले  वित्त मंत्रालय की तरफ से पीआईबी कार्डहोल्डर पत्रकारों के प्रवेश पर नॉर्थ ब्लॉक ऑफिस में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया गया था।

उसके बाद से अनेक पत्रकारों को यह डर था कि यह सभी सरकारी दफ्तरों में मीडिया के प्रवेश पर पूरी तरह से रोक की शुरुआत है। यहां तक कि यह रोक संसद के केंद्रीय कक्ष तक भी हो सकती है। हालांकि, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस संबंध में पत्रकारों को आश्वस्त किया।

शाह ने पत्रकारों से कहा कि वह उनके प्रवेश पर रोक नहीं लगाएंगे। शाह ने कहा, ‘मैं बड़े दिल वाला आदमी हूं, मैं ऐसी पाबंदियां नहीं लगाऊंगा।’ इससे पहले केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने नॉर्थ ब्लाक में मीडिया के प्रवेश पर रोक लगा दी थी। वित्त मंत्रालय में उन्हीं मान्यता प्राप्त पत्रकारों को जाने दिया जा रहा था जिनके पास पहले से ही अधिकारियों से मिलने का समय मिला हुआ था।

बाद में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के कार्यालय की तरफ से स्पष्टीकरण भी जारी किया गया था। उसमें कहा गया था कि वित्त मंत्रालय के भीतर मीडियाकर्मियों के प्रवेश को लेकर एक प्रक्रिया तय की गई है। मंत्रालय में पत्रकारों के प्रवेश को लेकर कोई रोक या प्रतिबंध नहीं है।

वित्त मंत्रालय पहले बजट से दो महीने पहले तक मीडिया से दूरी बना लेता था। हालांकि, इस साल 5 जुलाई को बजट पेश होने के बाद भी मंत्रालय में किसी मान्यता प्राप्त पत्रकार को बिना अप्वाइंटमेंट के घुसने नहीं दिया जा रहा था। इतना ही नहीं पीआईबी कार्डहोल्डर पत्रकारों को भी प्रवेश से रोका जा रहा था।

मंत्रालय का कहना था कि यदि पत्रकार किसी भी अधिकारी से मिलने के लिए आना चाहते हैं तो उन्हें पहले से समय लेना होगा। इस पूर्व निर्धारित समय के आधार पर ही प्रवेश दिया जाएगा। मिलने का समय लेने के बाद पीआईबी कार्डहोल्डर को अलग से पास बनवाने की जरूरत नहीं होगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 RTI कानूनों में बदलाव करना चाहती है मोदी सरकार, पूर्व इन्फॉर्मेशन कमिश्नर से लेकर सामाजिक कार्यकर्ताओं ने खोला मोर्चा
2 Weather Forecast Today : मुंबई में अगले चार घंटे में बारिश की चेतावनी
3 घर से बाहर निकली महिलाओं के लिए ‘हमसफर’
ये पढ़ा क्या...
X