ताज़ा खबर
 

28 जून का इतिहास: 1975 में आज ही के दिन आजाद भारत में पहली बार प्रेस पर लगा प्रतिबंध, MISA के तहत 327 पत्रकारों को जेलों में डाल दिया गया

28 June History (28 जून का इतिहास): आज ही के दिन 1838 में राष्ट्रगीत के रचयिता बंकिम चंद्र चटर्जी और 1921 में पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव के जन्म हुए थे।

Author नई दिल्ली | Updated: June 28, 2020 1:36 AM
Emergency, press censorship, indian Expressदेश में आपातकाल लगाने और प्रेस पर सेंसरशिप के खिलाफ इंडियन एक्सप्रेस अखबार ने अपने संपादकीय कॉलम को खाली छोड़ दिया था। (इंडियन एक्सप्रेस आर्काइव)

28 June History (28 जून का इतिहास): जून के महीने को भारत के राजनीतिक इतिहास में आपातकाल के लिए सदियों तक याद रखा जाएगा। आपातकाल की घोषणा के दो दिन के भीतर ही राजनीतिक विरोधियों और आंदोलनकारियों की गतिविधियों पर तो पहरा बिठा ही दिया गया, साथ ही आजाद भारत में ऐसा पहली ऐसा हुआ, जब सरकार ने प्रेस पर प्रतिबंध लगाये।

आलम यह था कि समाचार पत्रों में छपने वाली खबरों को सेंसर किया जाने लगा और अखबार छापने से पहले सरकार की अनुमति लेने की बंदिश लगा दी गई। आपातकाल के दौरान 3801 समाचार-पत्रों के डिक्लेरेशन जब्त कर लिए गए। 327 पत्रकारों को मीसा में बंद कर दिया गया और 290 अखबारों के विज्ञापन बंद कर दिए गए।
हालात इस कदर बिगड़े कि टाइम और गार्जियन अखबारों के समाचार-प्रतिनिधियों को भारत से जाने के लिए कह दिया गया। रॉयटर सहित अन्य एजेंसियों के टेलेक्स और टेलीफोन काट दिए गए।

देश दुनिया के इतिहास में 28 जून की तारीख पर दर्ज अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिलेवार ब्योरा इस प्रकार है:-
1651: पोलैंड और यूक्रेन के बीच बेरेस्तेको युद्ध शुरू।
1776: अमेरिकी क्रांति: अमेरिकी की जीत के साथ सुलीवन द्वीप युद्ध समाप्त।
1787: ब्रिटिश-भारतीय सेना का नेतृत्व करने वाले सर हेनरी जी. डब्ल्यू. स्मिथ का जन्म।
1838 : बंकिम चंद्र चट्टोपाध्याय का जन्म।

1838: विक्टोरिया इंग्लैंड की महारानी बनीं।
1846: एडोल्फ सैक्स ने वाद्य यंत्र सेक्सोफोन को पेटेंट कराया।
1857: नाना साहेब ने बिठूर में स्वयं को पेशवा घोषित किया, अंग्रेजों को भारत से उखाड़ फेंकने का आ’’ान किया।

1894: श्रम दिवस पर अमेरिका में आधिकारिक अवकाश घोषित।
1902: अमेरिकी संसद ने स्पूनर कानून पारित कर राष्ट्रपति थियोडोर रूजवेल्ट को कोलंबिया से पनामा नहर के अधिग्रहण का अधिकार दिया।
1914: आस्ट्रिया के आर्कड्यूक फ्रांज र्फिडनेंड और उनकी पत्नी सोफी की साराजेवो में हत्या, यह प्रथम विश्वयुद्ध का तात्कालिक कारण बना।

1919: वारसा की संधि पर हस्ताक्षर।
1921: भारत के पूर्व प्रधानमंत्री पी.वी. नरसिम्हा राव का जन्म।
1926: गोत्तलिब डैमलर और कार्ल बेन्ज ने दो कंपनियों का विलय कर र्मिसडिज-बेन्ज की शुरूआत की।
1940: बांग्लादेशी अर्थशास्त्री और नोबेल पुरस्कार से सम्मानित मोहम्मद युनुस का जन्म।
1950: कोरिया युद्ध: वामपंथियों के प्रति नरम रूख रखने के संदेह में करीब एक से दो लाख लोगों की ‘बोडो लीग नरसंहार’ में हत्या।

1975: भारत में आपातकाल के दौरान सरकार विरोधी प्रदर्शनों की पृष्ठभूमि में केन्द्र ने स्वतंत्रता के बाद सबसे कठोर प्रेस सेंसरशिप लागू किया।
1981 : चीन ने कैलाश और मानसरोवर का रास्ता खोला।
1981: तेहरान में भीषण बम विस्फोट, इस्लामिक रिपब्लिकन पार्टी के 73 पदाधिकारी मारे गये।
1986: मिजो नेशनल फ्रंट के साथ समझौता, लाल डेंगा मिजोरम के मुख्यमंत्री बने।

1986: केन्द्र सरकार ने अविवाहित लड़कियों को भी मातृत्व अवकाश देने का कानून बनाया।
1995: बाघों को शिकारियों से बचाने और उन्हें आश्रय देने के लिए मध्यप्रदेश को ‘टाइगर स्टेट’ घोषित किया गया।
1996: भारत ने फलस्तीनी नियंत्रण वाले गाजा सिटी में अपना मिशन खोला।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 संदेसरा स्कैम केसः सोनिया गांधी के करीबी अहमद पटेल से ED ने घंटों की पूछताछ, दस्ते के लौटने पर कसा तंज- मोदी और शाह जी के मेहमान थे…
2 गलवान पर NCP केंद्र के साथ? ‘संवेदनशील’ मसला बता शरद पवार बोले- झड़प किसी की नाकामी नहीं; कांग्रेस को याद दिलाया 1962
3 कहां कहर बना है कोरोना? स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया- महाराष्ट्र-दिल्ली समेत 8 सूबों से देश में महामारी के 85% केस, 87% मौतें भी यहीं से
ये पढ़ा क्या?
X