ताज़ा खबर
 

नेताजी की पोती का ऐलान- 2019 चुनाव अकेले लड़ेगी अखिल भारत हिन्‍दू महासभा

मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए राजश्री चौधरी ने कहा,'' नरेंद्र मोदी सरकार को भाजपा का वादा पूरा करने के लिए राम मंदिर बनवा देना चाहिए। हिंदू महासभा साल 1949 से ही राम मंदिर के लिए कानूनी लड़ाई लड़ रही है।''

हिंदूवादी संगठन (file photo)(प्रतीकात्मक तस्वीर)

अखिल भारत हिंदू महासभा की नेता और नेता जी सुभाष चंद्र बोस की पोती राजश्री चौधरी सोमवार (26 नवंबर, 2018) को झारखंड के रांची में थीं। पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा,”महासभा स्वतंत्र रूप से साल 2019 का चुनाव लड़ेगी।” हालांकि, संगठन ने अभी तक लड़ने वाली सीटों की संख्या तय नहीं की है। संगठन ने गठबंधन की सभी संभावनाओं पर भी अपने विकल्प खुले रखे हैं।

राजश्री चौधरी ने कहा कि ये फैसला सोमवार को झारखंड के राज्य महाधिवेशन में लिया जाएगा। झारखंड के अखिल भारत हिंदू महासभा के अधिवेशन में शामिल होने के बाद चौधरी ने कहा,”हम अपने चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ेंगे और जल्दी ही सीटों की संख्या पर आखिरी फैसला लेंगे। हम ये घोषणा करते हैं कि महासभा अपनी पांचों विचारधाराओं के साथ ही लोकसभा का आम चुनाव लड़ेगी। संगठन की राज्य कमिटी को ये दायित्व दिया गया है कि वह उचित सीटों का चुनाव करें। चुनाव की तिथियों का ऐलान होने के बाद ही अंतिम घोषणा की जाएगी।”

गठबंधन की संभावना पर राजश्री चौधरी ने कहा,” ये निर्णय और परिस्थिति पर निर्भर करेगा।” वैसे चौधरी ने आश्चर्य जताया कि कौन सी पार्टी है जो हमारी सख्त और ​अटल विचारधारा के करीब आना चाहेगी। उन्होंने ये भी साफ किया कि चुनाव में अयोध्या में राम मंदिर का मुद्दा, हिंदुत्व की विचारधारा को देश में स्थापित करना और भ्रष्टाचार में हो रहा इजाफा ही हमारा मुख्य चुनावी मुद्दा होगा।

मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए राजश्री चौधरी ने कहा,” नरेंद्र मोदी सरकार को भाजपा का वादा पूरा करने के लिए राम मंदिर बनवा देना चाहिए।” उन्होंने कहा कि अखिल भारत हिंदू महासभा साल 1949 से ही राम मंदिर के लिए कानूनी लड़ाई लड़ रही है। राम हमारे देश की पहचान हैं और सुशासन के प्रतीक हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App