रामायण में छ‍िपा है शेयर बाजार में न‍िवेश का फार्मूला! कुम्‍भकरण और लंका दहन से लीज‍िए टिप्‍स!! - Hindu Epic Ramayana has tips for Share Market Investment if you don't believe read this - Jansatta
ताज़ा खबर
 

रामायण में छ‍िपा है शेयर बाजार में न‍िवेश का फार्मूला! कुम्‍भकरण और लंका दहन से लीज‍िए टिप्‍स!!

सचिन तेंदुलकर के करियर से भी आप ले सकते हैं शेयर बाजार में निवेश के सूत्र।

तस्वीर का इस्तेमाल सांकेतिक तौर पर किया गया है। (photo source -Indian express)

लाखों-करोडों भारतीयों के लिए रामायण एक धार्मिक ग्रंथ है लेकिन कोटक महिंद्रा के मैनेजिंग डायरेक्टर नीलेश शाह की मानें तो इस भारतीय महाकाव्य में शेयर बाजार में निवेश के स्वर्णिम सूत्र छिपे हैं। ईटी नाउ के दिए इंटरव्य में नीलेश ने शेयर बाजार को मुक्केबाजी के रिंग जैसा बताया, जहां उतरने वाले को ये नहीं सोचना चाहिए कि उसे मार नहीं पड़ेगी। नीलेश के अनुसार शेयर बाजार में ये सोच कर ही उतरना चाहिए की यहां चोट भी खानी पड़ेगी।

नीलेश के अनुसार शेयर बाजार की सबसे बड़ी सीख रामायण के पात्र कुम्भकरण से मिलती है। नीलेश के अनुसार कुम्भकरण यानी लंबे समय के लिए किया गया निवेश। ऐसा निवेश जिसे करके आप 14 सालों के लिए भुल जाएं। ऐसा निवेश आपको मोटा मुनाफा दिला सकता है। अयोध्या से भी अमीर सोने की लंका जल गई थी। नीलेश के अनुसार इसमें भी निवेश के सूत्र हैं। नीलेश कहते हैं कि लंका तब जली थी जब उसने गलत जगह निगाह डाली थी। अगर आप अपनी क्षमता भूल जोखिम भरे शेयर खरीदेंगे तो आप भी उसके साथ डूबेंगे।

नीलेश के अनुसार शेयर बाजार में निवेश करने वालों का रवैया पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर की तरह होना चाहिए। नीलेश के अनुसार सचिन ने दुनिया में सर्वाधिक रन हर गेंद पर चौका-छक्का मारकर नहीं बनाए बल्कि उन्होंने मारक गेंदबाजों की बाउंसर और यॉर्कर पर अपना विकेट बचाते हुए कमजोर गेंदों की पिटाई करके ढेरों रन बनाए।

शेयर बाजार में निवेश करने वालों को भी हर शेयर से मुनाफा कमाने की भावना नहीं रखनी चाहिए। इसकी जगह उन्हें उन शेयर पर ध्यान देना चाहिए जिनसे वो अधिकतम मुनाफा कमा सकते हैं, साथ ही जोखिम भरे शेयर की पहचान करके अपना विकेट बचाए रखना चाहिए। नीलेश के अनुसार शेयर बाजार में निवेश करने वालों को ये भी ध्यान रखना चाहिए कि बाजार में अच्छा और बुरा वक्त दोनों का सामना करना पड़ता है। ऐसा कभी नहीं होगा कि आपके केवल अच्छे दिन ही रहें।

वीडियो- देखिए अब तक की पांच बड़ी खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App