हिमाचल प्रदेश: बंद खुला तो पर्यटन ने पकड़ी रफ्तार, तीर्थन वैली में कई पर्यटकों ने सात तो कई ने दो महीने की करवाई बुकिंग

पर्यटकों के पहुंचने से राज्य में छह-सात महीनों से बंद पड़े होटल, विश्राम गृह, होम स्टे समेत अन्य टूरिज्म यूनिट से जुड़े कारोबारियों के चेहरे खिलने लग गए हैं।

Author कुल्लू | September 30, 2020 1:32 AM
कोरोना महामारी की वजह से बंद पर्यटन उद्योग अब फिर पटरी पर आ रहा है। हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में पहुंचने लगे हैं पर्यटक।

कमलेश

वैश्विक कोरोना महामारी के कारण देशभर में मंदी की मार झेल रहा पर्यटन व्यवसाय अब धीरे-धीरे पटरी पर लौटने लगा है। प्रदेश सरकार ने बाहरी राज्यों के पर्यटकों के लिए बिना किसी औपचारिकता के सूबे के द्वार खोलने का निर्णय लिया। जिसके बाद अब पहले के मुकाबले अधिक सैलानियों ने आनलाइन बुकिंग करवाना शुरू कर दी है जिससे जिला कुल्लू का पर्यटन कारोबार गति पकड़ने लगा है।

जिले में सैलानियों की चहलकदमी बढ़ने से छह-सात महीनों से बंद पड़े होटल, विश्राम गृह, होम स्टे समेत अन्य टूरिज्म यूनिट से जुड़े कारोबारियों के चेहरे खिलने लग गए हैं। इतना ही नहीं जिले के कई विश्राम गृहों में बाहरी राज्यों से कई पर्यटकों ने तो छह से सात महीनों की बुकिंग करवा डाली है। जबकि कुछेक ने एक से लेकर दो महीने की बुकिंग भी करवाई है। इनमें से कई पर्यटक यहां पहुंच भी गए हैं।

आलम यह है कि कुल्लू जिले के अधिकतर पर्यटन स्थल इन दिनों पर्यटकों से गुलजार हो गए हैं। पर्यटन कारोबारियों की मानें तो पर्यटकों के आने से अब धीरे-धीरे जिंदगी की गाड़ी पटरी पर लौटने लगी है और उनके रोजगार फिर से शुरू हो गए हैं। हालांकि अक्तूबर महीने में पर्यटन के गति पकड़ने की संभावना है और पर्यटन कारोबार को पहले की स्थिति में लाने को अभी काफी समय लगेगा भी। लेकिन सरकार की ओर से पर्यटकों के लिए सीमाएं खोलने के निर्णय से पर्यटकों सहित पर्यटन कारोबार से जुड़े लोगों ने राहत की सांस ली है।

कई महीनों के लिए सैलानियों ने डाला डेरा
जिले की तीर्थन घाटी के रिवरांश होम स्टे में चेन्नई की एक युवती ने सात माह की बुकिंग करवाई है और वह यहां पर रह रही है। होम स्टे के मालिक हेमराज व भुवनेश्वरी नेगी ने बताया कि चेन्नई से एक युवती जननी ने 31 जुलाई को सात माह की बुकिंग करवाई है और वह यहां पर आ भी गई है। इसके अलावा मुंबई से भी दो अन्य पर्यटकों ने भी एक माह की बुकिंग करवाई है वह भी यहां पहुंच गए हैं और अन्य कई सैलािनियों ने एक-दो-दो माह की बुकिंग भी करवाई है।

पर्यटन कारोबारियों को जगी उम्मीद
होतलियर्स एसोसिएशन मनाली के अध्यक्ष अनूप राम, मणिकर्ण वैली होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष किशन ठाकुर, तीर्थन वैली होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष वरुण भारती सहित पर्यटन कारोबार से जुड़े हुए लोगों का कहना है कि कोरोना के मद्देनजर जिला के मनाली, मणिकर्ण, बंजार, सरयोलसर, शांघड़ सहित सभी पर्यटन स्थलों पर अब पर्यटक पहुंच रहे हैं। उन्होंने बताया कि सभी टूरिज्म यूनिट में सुरक्षा व्यवस्था और बेहतर इंतजाम करवाए गए हैं। उन्होंने बताया कि पर्यटन कारोबारियों को अब कारोबार की उम्मीद जगी है।

Next Stories
1 बातचीत: भविष्य की राह में क्रांतिकारी हैं कृषि कानून
2 उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू कोरोना संक्रमित, डॉक्टरों ने दी होम क्वारंटीन की सलाह
3 यदि आरोपी नहीं है तब भी क्या पुलिस जब्त कर सकती है आपका फोन, जानें क्या कहता है कानून
यह पढ़ा क्या?
X