ताज़ा खबर
 

बिलासपुर में हुआ बस हादसा, 25 लोगों की मौत

बिलासपुर। यहां से 20 किमी दूर जिले के घुमारवीं थाना क्षेत्र में ऋषिकेश-बिलासपुर मार्ग पर औहर के राहियां पुल के पास बुधवार सुबह एक निजी बस के गोबिंद सागर जलाशय में गिर जाने से 25 लोगों की मौत हो गई और 18 घायल हो गए। मृतकों में 18 पुरुष और पांच महिलाएं हैं। 22 शवों […]

Author Updated: September 25, 2014 8:07 AM

बिलासपुर। यहां से 20 किमी दूर जिले के घुमारवीं थाना क्षेत्र में ऋषिकेश-बिलासपुर मार्ग पर औहर के राहियां पुल के पास बुधवार सुबह एक निजी बस के गोबिंद सागर जलाशय में गिर जाने से 25 लोगों की मौत हो गई और 18 घायल हो गए। मृतकों में 18 पुरुष और पांच महिलाएं हैं। 22 शवों की पहचान कर ली गई है। घायलों में से नौ सिविल अस्पताल घुमारवीं और आठ क्षेत्रीय अस्पताल बिलासपुर में उपचाराधीन हैं। एक घायल को हमीरपुर रेफर किया गया है।

जिला प्रशासन ने मृतकों के परिजनों को 10-10 हजार रुपए और घायलों को पांच-पांच हजार रुपए तुरंत राहत राशि दी है। प्रशासन ने शवों को परिजनों के घरों तक पहुंचाने की भी व्यवस्था की। प्रशासन ने अस्पताल प्रशासन को घायलों का मुफ्त उपचार करने और जिला प्रशासन को हरसंभव सहायता उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।

हादसा सुबह 8:40 बजे हुआ। बस ऋषिकेश से बिलासपुर आ रही थी। सवारियों से मिली जानकारी मुताबिक 21 सीटर बस में क्षमता से दुगनी सवारियां भरी थीं। कुछ लोग छत पर भी बैठे थे। सवारियों में छात्र और नौकरीपेशे वाले ज्यादा थे। ड्राइवर फरार बताया जा रहा है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जलाशय में समाई बस में सवार कुछ लोग बस के शीशे तोड़कर उससे बाहर निकले और तैरकर जान बचाई। तभी जाकर लोगों को पता चला कि पानी में बस गिरी है। स्थानीय लोगों ने प्रशासन को सूचित करने के साथ अपने स्तर पर बचाव कार्य शुरू कर दिया। हादसे की सूचना मिलते ही उपायुक्त डॉ. अजय शर्मा और पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार दुर्घटनास्थल पर पहुंचे और राहत व बचाव कार्यों का जायजा लिया। क्रेन के जरिए बस को पानी से निकालने का काम शुरू किया गया। भाखड़ा व्यास प्रबंधन बोर्ड (बीबीएमबी) से गोताखोर भी बुलाए गए।

सदर विधायक बंबर ठाकुर हादसे की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे और अदम्य साहस का परिचय देते हुए लोगों को बचाने के लिए पानी में कूद गए। उन्होंने हादसे में घायल लोगों और मृतकों के परिजनों को हरसंभव मदद देने का भरोसा दिया। शवों का पोस्टमार्टम बिलासपुर व घुमारवीं के अस्पतालों में किया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories