ताज़ा खबर
 

तेल में लगी आग! कीमतें नहीं तय करता केंद्र- FM का बयान, बोले कवि कुमार विश्वास- हम हैं मता-ए-कूचा-ओ-बाज़ार की तरह…

देश में ईंधन की बढ़ती कीमतें आम आदमी की कमर तोड़ रही हैं। कोरोना महामारी के समय में जहां लोगों की नौकरी और रोजगार पर संकट है। ऐसे में ईंधन की बढ़ती कीमतें आम आदमी पर दोहरी चोट करने का काम कर रही हैं।

महामारी के बीच ईंधन की बढ़ी कीमतें आम आदमी की कमर तोड़ रही हैं। (एक्सप्रेस फोटो)।

देश में ईंधन की बढ़ती कीमतें आम आदमी की कमर तोड़ रही हैं। कोरोना महामारी के समय में जहां लोगों की नौकरी और रोजगार पर संकट है। ऐसे में ईंधन की बढ़ती कीमतें आम आदमी पर दोहरी चोट करने का काम कर रही हैं। ईंधन की बढ़ती कीमतों के बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का कहना है कि कि ईंधन की कीमतें पूरी तरह से बाजार नियंत्रित हैं और इसमें केंद्र सरकार की कोई भूमिका नहीं है। वित्त मंत्री के इस बयान पर अपनी राय रखते हुए कवि कुमार विश्वास ने ट्वीट किया, ‘हम हैं मता-ए-कूचा-ओ-बाज़ार की तरह…।’ वहीं पत्रकार बृजेश मिश्रा ने ट्वीट किया, ‘सरसों का तेल भी 225 रुपया प्रति लीटर पहुंच गया है। अब तक का सर्वाधिक है। सरसों तेल का इस्तेमाल गरीब, नौकरीपेशा, निम्न और मध्यम वर्ग करता है। कीमतों पर कोई कंट्रोल नही। मुनाफाखोर जैसा चाह रहे बाजार को हाँक रहे। कोरोना की भीषण विपत्ति मे ये वक़्त गरीबो की मदद का है। उन्हे लूटने का नहीं।’

बता दें कि कांग्रेस ने पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर सोमवार को सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि ‘कर वसूली महामारी की लहरें’ लगातार आती जा रही हैं। पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘कई राज्यों में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो रही है। पेट्रोल पम्प पर बिल देते समय आपको मोदी सरकार द्वारा किया गया महंगाई में विकास दिखेगा। टैक्स वसूली महामारी की लहरें लगातार आती जा रही हैं।’’


पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘‘भयंकर जनलूट – पिछले 13 महीने में पेट्रोल 25.72 रुपये, डीज़ल 23.93 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ! कई राज्यों में 100 रुपये प्रति लीटर पार हुआ।’’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘पेट्रोल-डीज़ल में रिकॉर्ड तोड़ बढ़ोतरी के लिए कच्चे तेल की क़ीमतें नहीं, मोदी सरकार द्वारा बढ़ाए गए कर ज़िम्मेदार हैं।’’

गौरतलब है कि वाहन ईधन की कीमतों में रविवार को फिर वृद्धि हुई। इससे राजधानी दिल्ली में पेट्रोल का दाम 95 रुपये प्रति लीटर के पार चला गया। वहीं डीजल पहली बार 86 रुपये प्रति लीटर को पार कर गया। सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों की मूल्य अधिसूचना के अनुसार पेट्रोल का दाम 21 पैसे प्रति लीटर और डीजल का 20 पैसे प्रति लीटर बढ़ाया गया है।

वाहन ईंधन कीमतों में चार मई से 20 बार बढ़ोतरी हुई है। इससे देश के विभिन्न हिस्सों में अब पेट्रोल ऐतिहासिक उच्चस्तर पर पहुंच गया है।

Next Stories
1 उमर खालिद, खालिद सैफी को हथकड़ी लगा पेश करने की याचिका खारिज, बोला कोर्ट- वे गैंगस्टर नहीं
2 दिल्ली: अदालत ने निजी स्कूलों को वार्षिक, विकास शुल्क लेने की अनुमति देने वाले आदेश पर रोक लगाने से किया इनकार
3 PM नरेंद्र मोदी आज शाम 5 बजे साधेंगे देश से संवाद, कोरोना समेत इन मुद्दों पर कर सकते हैं बात
ये पढ़ा क्या?
X