scorecardresearch

औरंगजेब को आक्रांता कहने पर भड़के हाजिक खान, बोले- 4 बार पैदा हो जाएं तो 53 साल राज नहीं कर सकते, गौरव भाटिया बोले- मुगल प्रेम जाग गया

इस्लामिक स्कॉलर हाजिक खान ने कहा कि औरंगजेब एक ऐसा बादशाह था, जिसके बाप और दादा भी बादशाह थे। उसने टोपी बुनकर और कुरान पढ़कर रोटी कमाई, उसने कोई बिल्डिंग नहीं बनाई।

Auranhzeb|Gaurav Bhatia|Gyanvapi Masjid
औरंगजेब को लेकर हाजिक खान बोले- उसने कोई बिल्डिंग नहीं बनाई, उसने टोपी बुनकर और कुरान पढ़कर रोटी कमाई (फाइल फोटो/ द इंडियन एक्सप्रेस)

ज्ञानवापी मस्जिद, ताजमहल और कुतुबमीनार को लेकर देश में चल रहे विवाद के बीच इस्लामिक स्कॉलर हाजिक खान ने बड़ी बात कही है। उन्होंने औरंगजेब को लेकर कहा कि अभी तक कोई ऐसा नहीं हुआ जिसने 53 साल तक राज किया हो। उन्होंने एक टीवी डिबेट में ये बात कही, जिसमें भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता गौरव भाटिया भी मौजद थे, जो इस्लामिक स्कॉलर की इस बात पर भड़क गए।

हाजिक खान ने कहा कि औरंगजेब को आक्रांत कह रहे हैं, 53 साल सबसे ज्यादा हुक्मरानी, कोई चार बार पैदा हो जाए तो भी नहीं कर सकता। न भारतीय जनता पार्टी का और न ही कोई और। उन्होंने कहा कि औरंगजेब ने हिंदुस्तान में कोई बिल्डिंग नहीं बनाई। वो एक ऐसा बादशाह था, जिसके बाप और दादा भी बादशाह थे। उसने टोपी बुनकर और कुरान पढ़कर रोटी कमाई, उसने कोई बिल्डिंग नहीं बनाई।

उन्होंने कहा, “जब बाबरी मस्जिद शहीद हुई थी, तब 25 साल पहले आपके “आज तक” पर एक रिपोर्ट दिखाई गई थी। उसमें बताया गया कि औरंगजेब ने 18-19 मंदिर छोड़े और 20-22 बनाए और 126 प्रोपर्टी हैं, जो इस देश के हिंदू भाईयों को दीं।”

उन्होंने केंद्र की भाजपा सरकार पर हमला करते हुए कहा कि ये मोदी-योगी जिस मठ में बैठे हुए हैं, ये भी नवाब वाजिद अली साहब की दी हुई है। राम गढ़ी नवाब लखनऊ की दी हुई है। इस पर गौरव भाटिया ने तंज कसते हुए कहा कि इनक अंदर बाबर जिंदा हो गया।

गौरतलब है कि देश में ज्ञानवापी मस्जिद, ताजमहल और कुतुबमीनार को लेकर विवाद चल रहा है। ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर दावा किया जा रहा है कि वहां हिंदू मंदिर था, जिस पर औरंगजेब की हुकुमत के समय मस्जिद का ढांचा खड़ा कर दिया गया। वहीं, ताजमहल में भी बंद पड़े कमरों को खोलने की मांग उठ रही है और दावा किया जा रहा है कि जिस जमीन पर ताजमहल बना है वो जयपुर के एक हिंदू राजा की थी।

इसके अलावा, कुतुबमीनार का नाम बदलकर ‘विष्णु स्तंभ’ करने की मांग की जा रही है। यहां कुछ दिन पहले हिंदू संगठन के लोग हनुमान चालीसा पढ़ने के लिए गए थे, लेकिन उससे पहले ही पुलिस ने उन्हें रोक दिया।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट