ताज़ा खबर
 

2 के बदले 10 पाकिस्तानियों के सिर कट तो रहे हैं, पर डिस्प्ले नहीं कर रहे हैं- बोलीं रक्षा मंत्री

एंकर ने इसी पर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) को लेकर सवाल दागा। कहा- तो पीओके पर भारतीय सेना कब कंट्रोल लेगी? जानिए क्या आया रक्षा मंत्री का जवाब।

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण। (एक्सप्रेस फोटोः रेणुका पुरी)

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि भारतीय सेना दो के बदले 10 पाकिस्तानी सैनिकों के सिर काट तो रही है। मगर देश में इस चीज का बखान नहीं किया जा रहा है। उन्होंने इस बात का खुलासा टेलीविजन इंटरव्यू आप की अदालत में किया। कार्यक्रम में एंकर रजत शर्मा ने उनसे पूछा था- पाकिस्तान को हम लोग सबक कब सिखाएंगे? जवाब में रक्षा मंत्री बोलीं, “एक बार तो कर चुके हैं। साल 2016 में जो सर्जिकल स्ट्राइक हुई, वह सबक सिखाने के लिए ही की गई थी। देश में आतंकियों को घुसपैठ नहीं करने दी जा रही है। उन्हें उधर ही खत्म किया जा रहा है।”

आश्वासन देते हुए वह आगे बोलीं, “हमारी सेना जवाब दे रही है। बिल्कुल दे रही है। मैं गर्व से नहीं बल्कि जिम्मेदारी के साथ कहूंगी कि हमारी सेना सक्षम है। शीर्ष पर है और पूरे नियंत्रण में है।” एंकर ने इसी पर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) को लेकर सवाल दागा। कहा- तो पीओके पर भारतीय सेना कब कंट्रोल लेगी? बकौल सीतारमण, “मेरी इच्छा है कि मैं इस पर कुछ कह सकूं। इच्छा तो है…इस देश में सबकी इच्छा है।”

देखें इंटरव्यू के दौरान क्या बोलीं रक्षा मंत्री

शर्मा ने आगे कहा- पर सवाल पाकिस्तान को ठीक करने का है। चुनाव के दौरान कहते (बीजेपी) थे कि वह (पाकिस्तान) दो सिर काटेंगे, तो हम 10 काट कर लाएंगे। लेकिन उतने तो नहीं कट रहे हैं? रक्षा मंत्री ने बताया, “नहीं। मैं ये बोल सकती हूं…कट तो रहे हैं। डिस्प्ले नहीं कर रहे हैं।”

क्या है मामला?: साल 2013 में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) की सरकार थी। पाकिस्तानी सैनिक तब भारतीय सेना के लांस नायक हेमराज समेत दो सैनिकों का सिर काट कर ले गए थे। पूरे मामले पर खूब हो-हल्ला हुआ था। तत्कालीन विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने कहा था कि भारत सरकार को पाकिस्तान पर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। बकौल सुषमा, “भारत को एक के बदले पाकिस्तानी सेना के जवानों के 10 सिर लाने चाहिए।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App