ताज़ा खबर
 

ओवैसी ने फूंका चुनावी बिगुल तो बोले बीजेपी सांसद, बंगाल और यूपी में हमारी मदद करेंगे

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सांसद साक्षी महाराज अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में बने रहते हैं। इस बार महाराज ने ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल (AIMIM) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को लेकर एक चौंकने वाला बयान दिया है। बीजेपी सांसद ने ओवैसी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यूपी और बंगाल चुनावों में उनकी भागीदारी से […]

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: January 14, 2021 8:01 AM
Sakshi Maharaj, Asaduddin Owaisi, Bihar, Uttar Pradesh , west bengal, AIMIM, BJP, NDA, UPA, Grand Alliance, Seemanchal region, muslim voteबीजेपी सांसद साक्षी महाराज और एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी।

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सांसद साक्षी महाराज अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में बने रहते हैं। इस बार महाराज ने ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल (AIMIM) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को लेकर एक चौंकने वाला बयान दिया है। बीजेपी सांसद ने ओवैसी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यूपी और बंगाल चुनावों में उनकी भागीदारी से भाजपा को राज्यों को जीतने में मदद मिलेगी।

बुधवार को साक्षी महाराज लखनऊ से दिल्ली के लिए रवाना हो रहे थे। कन्नौज के सौरिख इलाके में कार्यकर्ताओं से मुलाकात के दौरान उन्होंने कहा कि ओवैसी को यूपी में खुदा ताकत दें। उन्होंने बिहार में बीजेपी की मदद की, यूपी में करने आए हैं और बंगाल में भी मदद करेंगे। बता दें कि कांग्रेस समेत कई दल ओवैसी पर ये आरोप लगाते रहे हैं कि उनकी पार्टी बीजेपी की ‘बी टीम’ हैं। वहीं इसे लेकर समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा कि साक्षी के बयान से भाजपा और ओवैसी के रिश्तों से पर्दा हट गया है।

बीजेपी सासंद ने कहा कि बीजेपी की सरकार सबका साथ-सबका विकास के रास्ते पर चलने वाली पार्टी है। इसके चलते बीजेपी मुसलमानों का भी विश्वास जीतने और उनका विकास करने में लगी है। अब मुसलमान ये समझने लगे हैं कि पिछले 65 साल से हिंदुस्तान के मुस्लिमों को तुष्टिकरण के नाम पर डराया गया है। इस वजह से अब मुस्लिम समाज भी बीजेपी से जुड़ने लगा है।

किसान नेताओं के सुप्रीम कोर्ट के आदेश को मानने से इंकार करने पर सांसद ने इसे देश का दुर्भाग्य बताया। साक्षी महाराज ने कहा कि ये देश का दुर्भाग्य है कि पूर्वाग्रही, जातिवादी और परिवार वादी लोग सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मानने के लिए तैयार नहीं हैं। वे न ही सरकार और संविधान को मानने के लिए तैयार हैं।

महाराज ने आगे कहा कि कानून को अब अपना काम करना चाहिए। जब सुप्रीम कोर्ट ने कमेटी का गठन कर दिया है तब किसानों के आंदोलन का अर्थ नहीं रह जाता है। किसानों को तत्काल आंदोलन समाप्त कर देना चाहिए। अब किसानों को सुप्रीम कोर्ट की तरफ से गठित कमेटी से अपनी बात करनी चाहिए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 तुम नीचता कर रहे हो, तुम गिरे हुए पत्रकार हो- अमिश देवगन पर कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत की टिप्पणी
2 राहुल गांधी का एक गुण बताइए जिससे देश उनपर भरोसा कर ले- गौरव वल्लभ से बोले संबित पात्रा, देखिए रिएक्शन
3 सरकार ने 10 साल पुराने ट्रैक्टरों पर बैन लगाया है, पर हम उन्हें ही दिल्ली की सड़कों पर चलाकर दिखाएंगे- बोले किसान नेता राकेश टिकैत
यह पढ़ा क्या?
X