scorecardresearch

उसने खुद को बेचने से मना कर दिया था, तभी मारी गई, अंकिता मामले में राहुल गांधी का बीजेपी सरकार पर वार

राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम मोदी का शासन अपराधियों को समर्पित है, लेकिन अब भारत चुप नहीं बैठेगा।

उसने खुद को बेचने से मना कर दिया था, तभी मारी गई, अंकिता मामले में राहुल गांधी का बीजेपी सरकार पर वार
राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा में (फ़ोटो सोर्स: @RahulGandhi)

उत्तराखंड में अंकिता भंडारी की हत्या ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया। वहीं इस हत्याकांड के बाद उत्तराखंड की बीजेपी सरकार विपक्षी दलों के निशाने पर है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी भारत जोड़ो यात्रा निकाल रही है। राहुल गांधी स्वयं पैदल ही इस यात्रा का नेतृत्व कर रहे हैं। मंगलवार को भारत जोड़ो यात्रा केरल के मलप्पुरम में थी।

यात्रा में राहुल गांधी के साथ महिला कांग्रेस कार्यकर्ता भी चल रही थीं और उनके हाथ में बिलकिस बानों और अंकिता भंडारी के न्याय के लिए प्लेकार्ड भी था। महिला कार्यकर्ता अंकिता भंडारी के न्याय के समर्थन में अपनी आवाज बुलंद कर रही थी और नारे लगा रही थीं।

इसी दौरान राहुल गांधी ने केरल में एक जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा, “बीजेपी की करतूतों को देखा जा सकता है। उत्तराखंड में बीजेपी नेता के बेटे द्वारा चलाए जा रहे एक होटल में एक बेटी की हत्या केवल इसलिए कर दी जाती है, क्योंकि उसने खुद को बेचने से मना कर दिया था। बीजेपी महिलाओं का सम्मान किस प्रकार से करती है यह उसी बात का उदाहरण है।”

बता दें कि राहुल गांधी ने उत्तराखंड की घटना को लेकर ट्वीट के माध्यम से भी पीएम मोदी पर निशाना साधा और कहा कि पीएम मोदी का शासन अपराधियों को समर्पित है। राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा, “प्रधानमंत्री का नारा – बेटी बचाओ, भाजपा के कर्म – बलात्कारी बचाओ। ये भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं जिनकी विरासत होगी- सिर्फ़ भाषण, झूठे और खोखले भाषण। इनका शासन तो अपराधियों को समर्पित है। अब भारत चुप नहीं बैठेगा।”

अंकिता भंडारी की हत्या की गई थी। अंकिता भंडारी के परिजनों ने आरोप लगाया है कि वनातारा रिजॉर्ट के मालिक पुलकित आर्य और उनके सहयोगियों ने अंकिता पर एक वीआईपी कस्टमर को विशेष सेवा देने के लिए दबाव बनाया था। अंकिता ने इसके लिए मना कर दिया था। इसके बाद अंकिता की हत्या कर दी गई थी।

बता दें कि पुलकित आर्य, विनोद आर्या का बेटा है। विनोद आर्य पूर्व में बीजेपी में थे, लेकिन 3 दिन पहले उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया गया। अंकिता भंडारी मामले में उनके बेटे का नाम आने के बाद बीजेपी ने कार्यवाही की थी। इसके साथ ही अंकित आर्य को भी उत्तराखंड ओबीसी कमिशन के डिप्टी चेयरमैन के पद से हटा दिया गया था। अंकित आर्य, पुलकित आर्य का भाई है।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 27-09-2022 at 09:55:05 pm
अपडेट