ताज़ा खबर
 

केरल: स्वामी का दावा- लड़की ने नहीं, मैंने खुद काटा अपना प्राइवेट पार्ट, किसी काम का नहीं था

पुलिस के मुताबिक स्वामी पदमा छत्तामबी स्वामी आश्रम का रहने वाला है और उसने 15 साल पहले अध्यात्मिक गुरु बनने का फैसला किया। इस स्वामी की पहचान कोलम स्थित पनमाना आश्रम के स्वामी गंगेशानंद के रूप में हुई है।

महिला ने साबित कर दिया कि धर्म की आड़ में कोई भी व्यक्ति किसी महिला के साथ ऐसा कृत्य नहीं कर सकता है। (Photo Source: ANI)

केरल में एक लॉ छात्रा द्वारा स्वामी का प्राइवेट पार्ट काटे जाने का मामला सामने आया है। लड़की ने स्वामी पर आरोप लगाया कि वह लगातार 8 साल से उसका रेप कर रहा था। अब इस मामले एक नई जानकारी सामने आ रही है। 54 साल के स्वामी ने अब दावा किया है कि लड़की ने नहीं बल्कि उसने खुद अपना प्राइवेट पार्ट काटा है क्योंकि वह उसके लिए ‘गैर जरुरी’ था। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस को दिए अपने बयान में आरोपी स्वामी ने दावा किया कि उसने अपनी मर्जी से अपना प्राइवेट पार्ट काटा, क्योंकि वह उसके लिए उपयोगी नहीं था। रेप करने के मामले में सन्यासी के खिलाफ पॉस्को एक्ट में केस दर्ज किया गया है।

पुलिस के मुताबिक स्वामी पदमा छत्तामबी स्वामी आश्रम का रहने वाला है और उसने 15 साल पहले अध्यात्मिक गुरु बनने का फैसला किया। इस स्वामी की पहचान कोलम स्थित पनमाना आश्रम के स्वामी गंगेशानंद के रूप में हुई है। पुलिस में दिए गए छात्रा के बयान के अनुसार स्वामी ने पहली बार छात्रा के साथ उसके ही घर में बलात्कार किया था जब वह 16 साल की थी। पुलिस का कहना है कि उसकी मां छात्रा के साथ हुई घटना के बारे में जानती थी लेकिन फिर भी उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं कराई। छात्रा के पिता को लक्वा मारा हुआ है और उन्हीं के इलाज के दौरान आश्रम में उनकी मुलाकात आरोपी स्वामी से हुई थी। इसके बाद वह महिला के घर आने जाने लगा। बाद में उसने महिला की बेटी का शारीरिक शोषण शुरू कर दिया।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 25799 MRP ₹ 30700 -16%
    ₹3750 Cashback
  • I Kall K3 Golden 4G Android Mobile Smartphone Free accessories
    ₹ 3999 MRP ₹ 5999 -33%
    ₹0 Cashback

छात्रा द्वारा स्वामी के साथ किए गए कृत्य को लेकर केरल के मुख्यमंत्री पी. विजयन ने उसकी तारीफ की है। विजयन ने तारीफ करते हुए कहा कि छात्रा बहादुर लड़की है। छात्रा ने अपने दोषी को जो सजा दी वह बहुत ही सही है। इसके बाद केरल महिला आयोग की सदस्य प्रमीला देवी ने कहा कि हमें छात्रा पर गर्व है। महिला ने साबित कर दिया कि धर्म की आड़ में कोई भी व्यक्ति किसी महिला के साथ ऐसा कृत्य नहीं कर सकता है।

 

हैदराबाद: दोस्त से पत्नी का रेप करवाने वाले NRI को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App