ताज़ा खबर
 

सिर्फ कैश निकालने पर ही नहीं, बैलेंस इंक्‍वायरी और मिनी स्‍टेटमेंट के लिए भी चार्ज वसूलते हैं बैंक

एक तय सीमा से ज्‍यादा लेन-देन पर शुल्‍क वसूलने का नियम हर निजी बैंक ने बना रखा है।

प्राइवेट सेक्टर में HDFC सबसे बड़ा बैंक और आईसीआईसीआई दूसरा सबसे बड़ा बैंक है।

फ्री लिमिट से ज्यादा बार पैसे निकालने पर तो बैंक आपसे चार्ज वसूलते ही हैं, मगर यह जानकारी शायद आपको न हो कि वे मिनी स्‍टेटमेंट और बैलेंस इंक्‍वायरी जैसे गैर-वित्‍तीय लेन-देन पर भी चार्ज काटते हैं। देश के निजी बैंकों ने इस संबंध में 2014 में नियमों में बदलाव किया था। तब बैंकों ने एटीएम से पांच बार से ज्‍यादा रकम निकालने पर 20 रुपए प्रति ट्रांजैक्‍शन चार्ज वसूलने का नियम बनाया था। बता दें कि 1 मार्च को ही एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक ने एक महीने में चार बार से अधिक धन जमा करने या निकासी पर न्यूनतम 150 रुपए शुल्क लगाना शुरू किया। एक्सिस बैंक ने भी इसी तरह का कदम उठाया है। ऐसे में लेन-देन की सीमा कम होने से ग्राहकों को बैलेंस इंक्‍वायरी और मिनी स्‍टेटमेंट निकालने पर सावधान रहना होगा। क्‍योंकि बैंकों की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के अनुसार, लेन-देन की श्रेणी में इन ऑपरेशंस को भी शामिल किया गया है।

कुछ बैंकों ने वित्‍तीय और गैर-वित्‍तीय लेन-देन को अलग-अलग रखा है, मगर एक तय सीमा से ज्‍यादा लेन-देन पर शुल्‍क वसूलने का नियम हर निजी बैंक ने बना रखा है। देश के सबसे बड़े निजी बैंक HDFC ने ये नियम साल 2014 से ही लागू कर रखा है। वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के अनुसार, नॉन फायनेंशियल ट्रांजेक्शन यानी कि बैलेंस चेक करना, एटीएम कार्ड का पासवर्ड बदलना या फिर मिनी स्टेटमेंट निकालने पर 8.50 रुपये अलगे से कटेंगे।

HDFC Bank, ICICI Bank, Axis Bank, HDFC Bank ATM Charges, ATM withdrawl limit, ATM Charges, ICICI Bank atm charges, Axis bank atm charges, HDFC cash depost, ICICI cash deposit, Axis bank cash deposit, New ATM Charges, Business, Economy, India HDFC बैंक की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी। (Source: hdfcbank.com) HDFC Bank, ICICI Bank, Axis Bank, HDFC Bank ATM Charges, ATM withdrawl limit, ATM Charges, ICICI Bank atm charges, Axis bank atm charges, HDFC cash depost, ICICI cash deposit, Axis bank cash deposit, New ATM Charges, Business, Economy, India HDFC बैंक की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी। (Source: hdfcbank.com)

बैंकों के इस कदम को नकद लेन-देन को हतोत्साहित करने तथा डिजिटल भुगतान अभियान को गति देने के कदम के रूप में देखा जा रहा है। आईसीआईसीआई बैंक की वेबसाइट के अनुसार मूल शाखा (जहां खाता है) में एक-एक महीने में पहले चार लेन-देन के लिये कोई शुल्क नहीं लगेगा। उसके बाद प्रति 1,000 रुपए पर 5 रुपए का शुल्क लगाया जाएगा। यह समान महीने के लिये न्यूनतम 150 रुपए होगा। तीसरे पक्ष के मामले में सीमा 50,000 रुपए प्रतिदिन होगी।

मूल शाखा के अलावा अन्य शाखाओं के मामले में आईसीआईसीआई बैंक एक महीने में पहली नकद निकासी के लिये कोई शुल्क नहीं लेगा। पर उसके बाद प्रति 1,000 रुपए पर 5 रुपए का शुल्क लेगा। इसके लिये न्यूनतम शुल्क 150 रुपए रखा गया है। कहीं भी नकद जमा के लिये आईसीआईसीआई बैंक 5 रुपए प्रति हजार (न्यूनतम 150 रुपए) शुल्क लेगा। वहीं नकद स्वीकार करने वाली मशीन में एक महीने में पहली बार नकद जमा मुफ्त होगा और उसके बाद 5 रुपए प्रति 1,000 रुपए शुल्क लगेगा।

एक्सिस बैंक में पहले पांच लेन-देन या 10 लाख रुपए नकद जमा या निकासी मुफ्त होगी। उसके बाद प्रति 1,000 रुपए पर 5 रुपए या 150 रुपए शुल्क जो भी अधिक हो, लगेगा। अभी यह पता नहीं चला है कि क्या सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने भी इसी प्रकार का कोई कदम उठाया है। इस बारे में संपर्क किये जाने पर एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सरकार की तरफ से इस संदर्भ में बैंकों को कोई निर्देश नहीं मिला है।

4 कैश ट्रांजैक्‍शन के बाद प्राइवेट बैंक वसूलेंगे 150 रुपए का चार्ज, जानिए कैसे

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App