ताज़ा खबर
 

गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने के लिए मंत्री अनिल विज का ‘अनोखा’ तर्क, कहा- टाइगर की तरह नहीं कर सकती खुद की रक्षा

Cow National Animal: विज ने राजस्थान हाई कोर्ट के फैसले का स्वागत किया। कांग्रेस, बीजेपी पर गाय के नाम पर राजनीति करने का आरोप लगाती है, इस बारे में जब विज से पूछा गया तो उन्होंने गाय कोई धार्मिक या राजनीतिक मुद्दा नहीं है।

Author नई दिल्ली। | June 1, 2017 1:44 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर। (फाइल)

राजस्थान हाई कोर्ट के जज महेश चंद्र शर्मा ने बुधवार को सुनवाई के दौरान गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने का सुझाव दिया। जिसे लेकर सोशल मीडिया पर लोगों की ओर से प्रतिक्रिया व्यक्त की जा रही है। हरियाणा की बीजेपी सरकार में स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने जस्टिस शर्मा के सुझाव का समर्थन करते हुए गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की बात कही। विज ने गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने के लिए तर्क भी दिए। विज ने कहा, “अगर गोजातीय की रक्षा के लिए कदम नहीं बढ़ाए गए तो यह लुप्तप्राय हो सकते हैं। गाय की रक्षा करने का कारण हैं क्योंकि टाइगर खुद अपनी रक्षा कर सकता है, लेकिन गाय नहीं। गाय को केवल तभी बचाया जा सकता है जब उसे राष्ट्रीय पशु घोषित किया जाए।

विज ने राजस्थान हाई कोर्ट के फैसले का स्वागत किया। कांग्रेस, बीजेपी पर गाय के नाम पर राजनीति करने का आरोप लगाती है, इस बारे में जब विज से पूछा गया तो उन्होंने गाय कोई धार्मिक या राजनीतिक मुद्दा नहीं है। सभी धर्मों के लोगों गाय के दूध का सेवन करते हैं, क्योंकि वह सेहत के लिए अच्छा होता है। अगर हम ऐसे जानवर की रक्षा की बात करते हैं तो ऐसे में इस पर राजनीति करने की बात कहा से आ गई। साल 2015 में अनिल विज ने गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने के लिए ऑनलाइन पोल लॉन्च किया था। विज अंबाला कैंट विधानसभा सीट से 5 बार के विधायक हैं।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 24790 MRP ₹ 30780 -19%
    ₹4000 Cashback
  • Sony Xperia L2 32 GB (Gold)
    ₹ 14845 MRP ₹ 20990 -29%
    ₹0 Cashback

राजस्थान हाई कोर्ट के जस्टिस महेश चंद्र शर्मा ने हिंगोनिया गोशाला के लचर प्रबंधन के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए यह सुझाव दिया था। जज महेश चन्द्र शर्मा ने गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने के पीछे अपना तर्क देते हुए कहा कि नेपाल एक हिन्दू देश है और वहां पर गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित किया गया है। जबकि भारत एक कृषि प्रधान देश है और हमारी खेती जानवरों पर आधारित है। महेश चन्द्र शर्मा ने कहा कि संविधान की धारा 48 और 51 (जी) के मुताबिक राज्य सरकार से ये अपेक्षा की जाती है कि वो गाय को कानूनी संरक्षण दें। उन्होंने कहा कि सरकार से ये अपेक्षा की जाती है कि वे गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करें, इसी उद्देश्य के लिए राज्य के मुख्य सचिव और महाधिवक्ता को गाय का कानूनी संरक्षक नियुक्त किया गया है।

राजस्थान हाईकोर्ट का नया फरमान गाय को घोषित करो राष्ट्रीय पशु

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App