ताज़ा खबर
 

हरियाणा से नार्को-आतंकी रणजीत सिंह अरेस्ट, हिज्बुल कमांडर रिजाय नायकू से जुड़े थे तार; 1 साल से था फरार

एनआईए प्रवक्ता ने बयान में कहा कि एक मादक पदार्थ जब्ती मामले में जांच में पता चला कि पाकिस्तानी आतंकी संगठन भारत में आतंकी गतिविधियों के लिए धन इकट्ठा करने के लिहाज से मादक पदार्थों की तस्करी का इस्तेमाल कर रहे थे।

Author नई दिल्ली | Updated: May 9, 2020 11:07 PM
नार्को-आतंकी को गिरफ्तार कर साथ ले जाते अफसर।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने शनिवार को कुख्यात नार्को-आतंकी रणजीत सिंह को सिरसा से गिरफ्तार कर लिया जो करीब एक साल से फरार चल रहा था। वह पाकिस्तानी आतंकी संगठनों के लिए भारत में मादक पदार्थों को पहुंचाने काम करता था। इससे मिलने वाले धन का इस्तेमाल आतंकवादी गतिविधियों में किया जाता था।

एनआईए ने एक बयान में कहा कि एजेंसी ने पंजाब और हरियाणा पुलिस के साथ मिलकर अमृतसर निवासी रणजीत सिंह उर्फ चीता को हरियाणा के सिरसा में गुप्त सूचना पर आधारित एक अभियान में गिरफ्तार किया। बयान के अनुसार एनआईए ने पिछले साल जून में एक मामला दर्ज किया था और पिछले साल दिसंबर में सिंह समेत 15 लोगों और चार कंपनियों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया था।

एनआईए के प्रवक्ता ने बयान में कहा कि एक मादक पदार्थ जब्ती मामले में जांच में पता चला कि पाकिस्तानी आतंकी संगठन भारत में आतंकी गतिविधियों के लिए धन इकट्ठा करने के लिहाज से मादक पदार्थों की तस्करी का इस्तेमाल कर रहे थे। इसमें बताया गया कि तस्करी से मिलने वाले पैसे को कूरियर और हवाला माध्यम से आतंकी गतिविधियों के लिए कश्मीर घाटी भेजा जाता था।

Coronavirus in India Live Updates

सिंह हिज्बुल मुजाहिदीन के हाल में सामने आए आतंकी वित्तपोषण मॉड्यूल में भी प्रमुख आरोपी है। पंजाब पुलिस ने इस साल अप्रैल में दक्षिण कश्मीर के अवंतीपुरा में नौगाम निवासी हिलाल अहमद वागाय को 29 लाख रुपये नकदी के साथ अमृतसर से गिरफ्तार करके मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया था।

यह धन कश्मीर घाटी भेजा जा रहा था, जिसे हिज्बुल के तथाकथित ऑपरेशन कमांडर रियाज नायकू को सौंपा जाना था। सुरक्षा बलों ने पिछले दिनों नायकू को कश्मीर के पुलवामा जिले में उसके गांव में मार गिराया था। एनआईए ने शुक्रवार को मामला अपने हाथ में लिया और जांच शुरू कर दी।

Bihar Coronavirus LIVE Updates

सिंह और इकबाल सिंह पाकिस्तान से आयातित सेंधा नमक की खेप में छिपाकर लाये जा रहे 532 किलोग्राम हेरोइन के जब्त होने के मामले में मुख्य आरोपी हैं। सीमाशुल्क अधिकारियों ने पिछले साल 29 जून को अटारी में यह खेप जब्त की थी।

जांच में पता चला कि पाकिस्तानी संगठन वहां से मादक पदार्थों की तस्करी सेंधा नमक की खेप में छिपा कर भारतीय क्षेत्र में करते थे। यह सारा काम आयातकों, कस्टम हाउस एजेंट, ट्रांसपोर्टरों के व्यापक नेटवर्क की मदद से किया जा रहा था और अवैध अंतरराष्ट्रीय हवाला चैनलों से इसके लिए पैसा आ रहा था।

Haryana Coronavirus LIVE Updates

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 विकसित देशों जैसे खराब स्थिति आने की सोच नहीं रहे, बल्कि बदतर हालात के लिए तैयार- कोरोना पर बोले स्वास्थ्य मंत्री
2 Vizag Gas Leak: कारखाने के आगे लाशें रख ग्रामीणों का हल्लाबोल! बोले- बंद करो एलजी पॉलीमर्स प्लांट
3 सूरत कमाने आया था नाबालिग, लॉकडाउन में फंसने पर ‘श्रमिक ट्रेन’ से लौट रहा था; पत्रकार ने पूछा सपना क्या है? बोला- बस घर जाना है…
IPL 2020 LIVE
X