ताज़ा खबर
 

नरम पड़े JJP विधायक, फिर भी न छूटे अरेस्ट किसान, बोले टिकैत- उन्हें छोड़ो या हमें भी करो गिरफ्तार

गिरफ्तार किसानों की रिहाई की मांग को लेकर राकेश टिकैत, योगेंद्र यादव सहित कई किसान नेता शनिवार को ही टोहना पहुंच गए थे। किसान नेता शनिवार से ही टोहाना थाना के बाहर धरने पर बैठ हुए हैं।

राकेश टिकैत ने किसानों की रिहाई की मांग करते हुए कहा है कि पुलिस किसानों को जल्दी रिहा करे नहीं तो हमें भी गिरफ्तार करे।(फोटो: ट्विटर/ RakeshTikaitBKU)

हरियाणा के फतेहाबाद से टोहाना के जेजेपी विधायक देवेंद्र बबली के साथ हुए कथित दुर्व्यवहार के मामले में किसानों की गिरफ़्तारी को लेकर उपजा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। हालांकि इसी बीच जेजेपी विधायक देवेंद्र बबली के तेवर नर्म पड़ गए हैं। गिरफ्तार किसानों को रिहा करने की मांग करने को लेकर किसान नेताओं ने रात भर टोहाना थाना के सामने धरना दिया। किसान नेता राकेश ने कहा है कि उन्हें छोड़ा जाए नहीं तो हमें भी गिरफ्तार किया जाए।

वहीं जेजेपी विधायक देवेंद्र बबली ने 1 जून को हुए विवाद को लेकर किसानों से माफ़ी मांगते हुए कहा है कि 1 जून को कुछ लोगों ने मुझ पर हमला कर दिया था। हमला करने वाले अपने आपको किसान बता रहे थे लेकिन मेरा मानना है कि वो किसान नहीं हो सकते। वहां ऐसे हालात पैदा हुए कि मेरे मुंह से कुछ अपशब्द निकल गए जिसके लिए मैंने खेद प्रकट किया। 

दरअसल 1 जून को टोहाना के शहर थाना रोड पर विधायक देवेंद्र बबली की गाड़ी को रोक कर किसानों ने उनके खिलाफ नारेबाजी की थी। इसी दौरान विधायक और किसानों के बीच गाली-गलौज की नौबत आ गई थी। किसानों ने विधायक देवेंद्र सिंह बबली के ऊपर गाली देने का आरोप भी लगाया था। इस मामले में पुलिस प्रशासन द्वारा शहर थाना में दो तथा सदर थाना में एक केस दर्ज किया गया, जिसमें कुछ किसानों की गिरफ्तारी भी की गई थी।

गिरफ्तार किसानों की रिहाई की मांग को लेकर राकेश टिकैत, योगेंद्र यादव सहित कई किसान नेता शनिवार को ही टोहना पहुंच गए थे। किसान नेता शनिवार से ही टोहाना थाना के बाहर धरने पर बैठ हुए हैं। किसानों की रिहाई को लेकर राकेश टिकैत ने कहा कि विधायक देवेंद्र बबली ने माफ़ी मांग ली है। इसके बावजूद पुलिस किसानों को रिहा नहीं कर रही है। पुलिस किसानों को जल्दी रिहा करे, नहीं तो हमें भी गिरफ्तार करे।

वहीं किसान नेता योगेंद्र यादव ने भी कहा कि जिन्हें गिरफ्तार किया गया है उन्हें रिहा किया जाना चाहिए और अगर उन्हें रिहा नहीं किया जाता है तो हमें भी जेल में डाल दिया जाए। साथ ही योगेंद्र यादव ने कहा कि विधायक के द्वारा शिकायत नहीं भी दर्ज कराए जाने के बावजूद किसानों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सरकार मामले को वापस लेने के लिए तैयार नहीं है, इसलिए किसानों ने भी थाने के बाहर ही धरना देने का फैसला किया है।   

Next Stories
1 डॉक्टरों के बाद एस्ट्रोलॉजर्स पर रामदेव का वार! भड़के BHU प्रोफेसर्स ने कहा- ये हर माह मांगते हैं माफी, लाइसेंस रद्द कर भेजें जेल
2 राशन दुकानों को CM ने बताया ‘सुपरस्प्रेडर’, तो बोले BJP के संबित पात्रा- धरनारत किसान ‘‘सुपरस्प्रेडर’’ नहीं लगते, पर…
3 करणी सेना के सूरजपाल अमू का भड़काऊ VIDEO वायरल; लोग बोले- देश बर्बादी के रास्ते पर चल पड़ा
ये पढ़ा क्या?
X