ताज़ा खबर
 

बीफ को सेहत के लिए अच्‍छा बताने वाली मैगजीन के संपादक को हरियाणा सरकार ने किया बर्खास्‍त

देश में रहने के लिए मुस्लिमों को गौमांस छोड़ने की नसीहत देने वाले हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल खट्टर अब नए विवाद में घिर गए हैं।

Author नई दिल्ली | October 29, 2015 8:41 PM

देश में रहने के लिए मुस्लिमों को गौमांस छोड़ने की नसीहत देने वाले हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल खट्टर अब नए विवाद में घिर गए हैं। हरियाणा के ही शिक्षा विभाग की एक मैगजीन में बीफ को आयरन का सबसे बड़ा स्रोत बताया गया है। हरियाणा में करीब 14, 500 सरकारी स्‍कूल हैं और इन सभी में ”शिक्षा सारथी” नाम की इस मैगजीन का वितरण किया जाता है। मैगजीन में बीफ को सेहत के लिए अच्‍छा बताए जाने के बाद गुरुवार को सरकार ने इसके संपादक को बर्खास्‍त कर दिया।

रिपोर्ट के मुताबिक मैगजीन के सितंबर में प्रकाशित अंक में एक चैप्‍टर दिया गया है, जिसका टाइटल है, ”6आयरन: वाइटल सोर्स ऑफ स्‍ट्रेंथ”। मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ”शिक्षा सारथी” नाम की इस मैगजीन के प्रधान संरक्षक हैं।  मुसलमानों को देश में रहना है तो गौमांस खाना छोड़ना होगा

हरियाणा सरकार की मैग्जीन 'शिक्षा सारथी' में यह विवादित चैप्टर - हरियाणा सरकार की मैग्जीन ‘शिक्षा सारथी’ में यह है विवादित चैप्टर

मुख्‍यमंत्री ने खट्टर ने कुछ दिनों पहले ‘इंडियन एक्‍सप्रेस’ को इंटरव्‍यू दिया था, जिसमें उन्‍होंने कहा था, ”अगर मुसलमानों को देश में रहना है तो उन्हें गौमांस खाना तो छोड़ना होगा।” इंटरव्यू के ऑडियो में खट्टर यह कहते सुनाई देते हैं कि मुसलमान देश में रह सकते हैं, लेकिन उन्हें गौमांस खाना छोड़ना होगा, क्योंकि गाय यहां आस्था से जुड़ी है। (ऑडियो सुनने के लिए यहां क्लिक करें)

बाद में बीजेपी के कई शीर्ष नेताओं ने खट्टर को फटकार लगाई थी और सोच-समझकर बयान देने को कहा था। गौरतलब है कि हरियाणा पहला ऐसा राज्‍य है, जहां गौ हत्‍या पर सबसे पहले बैन लगाया था। इस राज्‍य में गौ हत्‍या का दोषी पाए जाने पर 10 साल की सजा का प्रावधान है।

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करें, गूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App