हरियाणाः आंखें निकालकर हाथ काट दूंगा, बीजेपी सांसद ने दी धमकी, अपने पूर्व मंत्री को मंदिर में बंधक बनाने पर बिफरे

एक प्रोग्राम में उन्होंने कांग्रेस के साथ किसान नेताओं को धमकाते हुए कहा कि जिसने भी मनीष का विरोध करने की कोशिश की, उसकी आंखें निकालकर हाथ काट देंगे।

Haryana, BJP MP Arvind Sharma, MP Threat, gouge out the eyes and cut off the arms, Manish Grover
सीएम मनोहर लाल खट्टर के साथ सांसद अरविंद शर्मा। (फोटोः PTI)

रोहतक से बीजेपी सांसद अपने पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर को बंधक बनाने पर इतना ज्यादा बिफऱ गए कि उन्होंने शब्दों की मर्यादा ही लांघ दी। एक प्रोग्राम में उन्होंने कांग्रेस के साथ किसान नेताओं को धमकाते हुए कहा कि जिसने भी मनीष का विरोध करने की कोशिश की, उसकी आंखें निकालकर हाथ काट देंगे।

NDTV की खबर के मुताबिक, उन्होंने कहा कि कांग्रेस अगले 25 सालों तक गोल घेरे में घूमती रहेगी। जबकि दुष्यतं चौटाला से हाथ मिलाने के बाद बीजेपी सत्ता पर काबिज रहेगी। वह रोहतक में एक पब्लिक मीटिंग में बोल रहे थे। उनके विवादित शब्दों पर भीड़ ने ताली भी बजाईं। अरविंद ने कहा कि मोदी और खट्टर की सरकार लोगों के हितों के लिए काम कर रही है। हर वर्ग का पूरा ध्यान रखा जा रहा है।

अरविंद शर्मा पहले कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में शुमार होते थे। हालांकि, उन्होंने राजनीति में कदम निर्दलीय के तौर पर रखे। अरविंद ने अपना पहला लोकसभा चुनाव वर्ष 1996 में सोनीपत लोकसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में जीता था। फिर कांग्रेस में आ गए। 2004 और 2009 में उन्होंने कांग्रेस की टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़ा और बीजेपी उम्मीदवार व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री रहे आईडी स्वामी को हराया था।

2014 में भाजपा के प्रत्याशी अश्विनी कुमार चोपड़ा ने उन्हें करीब साढ़े तीन लाख वोटों से मात दी थी। 2019 चुनाव से पहले वह बीजेपी में आ गए थे। उन्हें हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा का धुर विरोधी माना जाता है। 2019 में उन्होंने हुड्डा के बेटे दीपेंद्र को मामूली अंतर से रोहतक से शिकस्त दी।

गौरतलब है कि शुक्रवार को बीजेपी के पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर को किलोई के एक मंदिर में किसानों ने तब घेर लिया था जब वह बीजेपी के अन्य नेताओं के साथ पीएम मोदी का केदारनाथ से लाइव टेलीकास्ट देख रहे थे। कई घंटों तक भीड़ ने ग्रोवर को बंधक बनाए रखा। माफी मांगने पर ही उन्हें जाने दिया। हालांकि, ग्रोवर ने माफी मांगने की बात को खारिज करते हुए कहा कि उन्होंने किसानों के कहने पर हाथ हिलाया था। माफी नहीं मांगी। जब भी मन होगा तब वह इस मंदिर में आएंगे। किसान मनीष की उस बात से बिफरे हुए थे जिसमें उन्होंने आंदोलनकारियों को बेरोजगार, शराबी कहा था।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट