ताज़ा खबर
 

हरियाणा भाजपा अध्यक्ष के बेटे ने किया था जिसका पीछा वह बोली- अच्छा हुआ नहीं हूं आम आदमी की बेटी

पीड़ित लड़की ने चंडीगढ़ पुलिस का शुक्रिया अदा किया कि उन्होंने समय रहते उसे बचा लिया।

दोनों युवकों को गिरफ्तार कर लिया गया था, जिन्हें जमानत मिल गई है (Express Photo)

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की हरियाणा इकाई के अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे को राज्य में नियुक्त एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी की बेटी का पीछा करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पीड़ित लड़की ने चंडीगढ़ पुलिस का शुक्रिया अदा किया कि उन्होंने समय रहते उसे बचा लिया। साथ ही लड़की ने कहा कि अच्छा हुआ वह एक आम आदमी की बेटी नहीं है, वर्ना इस मामले को इतनी गंभीरता से ना लिया जाता।

आईएएस अधिकारी की बेटी ने मीडिया को बताया, “मैं अपने घर लौट रही थी जब रास्ते में उन्होंने मेरा पीछा करना शुरू कर दिया। उन्होंने मेरी कार भी रोकने की कोशिश की। अचानक वो मेरी कार के आगे आ गए और रास्ता जाम कर दिया। मैने तुरंत कार रिवर्स गियर में लगाई और पुलिस को फोन किया। पुलिस ने फोन पर ही पूरा मामला सुन लिया और सहायता का आश्वासन दिया। तुरंत ही पुलिस आ गई और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।” लड़की ने अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा, “मुझे लगता है कि मैं लकी हूं कि किसी आम आदमी की बेटी नहीं हूं। क्योंकि वो लोग किसी वीआईपी का मुकाबला कैसे कर पाते। मैं लकी हूं कि मेरा रेप या मर्डर नहीं हुआ।”

पुलिस ने शनिवार को बताया कि भाजपा अध्यक्ष के बेटे विकास बराला के अलावा एक अन्य व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया गया है। विकास और उसके सहयोगी आशीष को चंडीगढ़ पुलिस ने शनिवार सुबह गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया कि लड़की का पीछा करने के दौरान दोनों आरोपी शराब के नशे में थे। हालांकि दोनों आरोपियों को जमानत मिल गई है।

फेसबुक पर बताई आपबीती:

पीड़िता ने फेसबुक पर अपने साथ हुए इस कटु अनुभव को साझा किया है। उसने लिखा कि वह कार से पंचकुला जा रही थी। दोनों लोगों ने अपनी टाटा सफारी स्टॉर्म एसयूवी (एचआर 23 जी 1008) में उसका ग्रेन मार्केट सेक्टर 26 से पीछा करना शुरू किया। पीड़िता के मुताबिक वह आधी रात करीब 12.15 बजे चंडीगढ़ के सेक्टर 8 से अकेली कार चलाकर पंचकुला जा रही थीं, तभी दोनों युवक उसका पीछा करने लगे। पीड़िता ने बताया कि आरोपियों ने कई बार अपनी एसयूवी उसकी कार से करीब-करीब सटा दी और उसकी कार का रास्ता बाधित कर उसे दूसरे रास्ते पर धकेलने की कोशिशें भी कीं। इसके बाद पीड़िता ने पुलिस नियंत्रण कक्ष को फोन किया और एसयूवी का गाड़ी नंबर बताया। पुलिस ने सूचना के आधार पर आरोपियों का वाहन चंडीगढ़ और पंचकुला की सीमा पर धर लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X