ताज़ा खबर
 

हरियाणा चुनाव 2019: बाबा रामदेव बोले- मनोहर लाल खट्टर साहब बिना विवाह किए हमारी जमात के हैं

Haryana Assembly elections 2019: बाबा राम देव ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मीडिया से बातचीत में कहा 'हरियाणा में तो सीएम खट्टर के मुकाबले विपक्ष में ही खटपट है। मैं उनका समर्थन इसलिए नहीं करता क्योंकि वह हमारी तरह अविवाहित हैं। या फिर वह हमारी जमात के ही हैं। यहां किसी विरादरी की बात नहीं।'

Baba RamDev, Yoga Guru, RamDev bjp, Haryana Assembly elections 2019, Haryana Assembl, Haryana Assembly elections, Assembly elections 2019, Mahendragarh rally, Congress, bjp, Haryana Congress, Haryana Congress leadersयोग गुरु बाबा रामदेव और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर। फोटो:PTI

Haryana Assembly elections 2019: योग गुरु बाबा रामदेव ने गुरुवार को कहा कि हरियाणा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल और बीजेपी के सामने पूरा विपक्ष कमजोर नजर आ रहा है। उन्होंने कहा कि विपक्ष के नेताओं में छटपट है जो बीजेपी को चुनौती देने में सक्षम नहीं। उन्होंने कहा कि वह सीएम खट्टर का इसलिए समर्थन नहीं करते कि वह मेरी तरह अविवाहित हैं और हमारी जमात के हैं।

बता दें कि हरियाणा में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान किया जाएगा। बाबा राम देव ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मीडिया से बातचीत में कहा ‘हरियाणा में तो सीएम खट्टर के मुकाबले विपक्ष में ही खटपट है। मैं उनका समर्थन इसलिए नहीं करता क्योंकि वह हमारी तरह अविवाहित हैं। या फिर वह हमारी जमात के ही हैं। यहां किसी विरादरी की बात नहीं।’

उन्होंने आगे कहा ‘सच तो यह है कि मुझे उनका व्यक्तिगत तौर पर कोई स्वार्थ नजर नहीं आता। उनको सात पीढ़ियों का सामान इकठ्ठा नहीं करना। उन्हें न तो अपने पोता-पोती की शादी करनी है और न ही कोठी-बंगला बनावाना है। मैं इस बात की जिम्मेदारी ले सकता हूं कि खट्टर एक झोला लेकर चलने वाले व्यक्ति हैं। उन्होंने झोला टांग कर ही 40 साल तक संघ के लिए काम किया। वह कभी बेईमान नहीं हो सकते। ये बात मैं अपनी तरफ से कह सकता हूं। उनके घोर विरोधी भी यह नहीं कह सकते कि ये आदमी बेईमान है। अच्छे चरित्र की तारीफ राजनीति में भी होनी चाहिए और धार्मिक समाजिक क्षेत्र में भी होना चाहिए।’

वहीं वीर सावरकर को भारत रत्न दिलवाने के बीजेपी के वादे पर रामदेव ने कहा कि ‘सावरकर ने देश के लिए जो कुर्बानी दी है उसे निरपेक्ष दृष्टि से देखना चाहिए। आजादी के लिए सावरकर ने जो संघर्ष किया उसके लिए वह एक महान योद्धा हैं। वहीं हिंदुत्व की बात करना कुछ राजनीतिक पार्टियों के लिए देशद्रोह है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 छात्र जीवन में ही वीडी सावरकर ने साथियों संग किया था मस्जिद पर हमला, हिंदुओं के रुख से थे खफा
2 सुन्नी वक्फ बोर्ड पर भड़के कांग्रेस नेता राशिद अल्वी, बोले- सुप्रीम कोर्ट लगाए 5 करोड़ का जुर्माना
3 ‘सावरकर राष्ट्रभक्त नहीं थे क्या? मैं जब भी अंडमान जाता हूं, उस सेल में जाकर एक घंटे बैठता हूं’, केंद्रीय मंत्री बोले- कांग्रेस अपने ही घर में रखना चाहती है भारत रत्न
ये पढ़ा क्या...
X