ताज़ा खबर
 

बदमाश की मां को अगवा करने के आरोप में मुकदमा, बजरंग दल वालों ने जेएनयू छात्र उमर खालिद को घसीटा

विवाद गरमाता उससे पहले वहां बजरंग दल के कार्यकर्ता पहुंच गए। उन्होंने इस प्रतिनिधिमंडल का विरोध जताते हुए जोर-जोर के नारे लगाना शुरू कर दिया।

जेएनयू छात्र उमर खालिद। (एक्सप्रेस फोटोः प्रेमनाथ पांडे)

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्र उमर खालिद की मुश्किलें बढ़ गई हैं। खालिद और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के दो पूर्व छात्र नेताओं समेत कई छात्रों पर अलीगढ़ में हुई हरदुआगंज मुठभेड़ में मारे गए बदमाशों की मां को अगवा करने का आरोप लगा है। पीड़ित पक्ष की शिकायत पर एएमयू के दोनों पूर्व छात्र नेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया, जबकि पुलिस इस मामले की जांच-पड़ताल में जुटी है।

गुरुवार (26 सितंबर) को जेएनयू-एएमयू का प्रतिनिधिमंडल मुठभेड़ में मारे गए नौशाद-मुस्तकीम के बैसपाड़ा स्थित घर परिजन से मिलने गया था। प्रतिनिधिमंडल में खालिद के साथ एएमयू के निवर्तमान छात्र संघ अध्यक्ष मशकूर अहमद उस्मानी और पूर्व अध्यक्ष फैजुल हसन व कुछ और छात्र थे। बदमाशों के परिजन से मिलने के बाद इनका प्रतिनिधिमंडल कोतवाली पहुंचा, जहां पुलिस के साथ इन छात्रों की कहासुनी हुई।

विवाद गरमा रहा था, उसी दौरान वहां बजरंग दल के कार्यकर्ता पहुंच गए। उन्होंने इस प्रतिनिधिमंडल का विरोध जताते हुए जोर-जोर के नारे लगाना शुरू कर दिया। बजरंग दल वालों ने बाद में एएमयू-जेएनयू छात्रों के खिलाफ तहरीर देते हुए कार्रवाई की मांग की। मामला गरमाते देख पुलिस भी सकते में आ गई, लिहाजा उसने किसी तरह बजरंग दल वालों को समझाया, जबकि जेएनयू-एएमयू वाले वहां से निकल लिए।

साधु की हत्या में वांछित दो बदमाश ढेर, एनकाउंटर LIVE कवर करने को पुलिस ने बुलाए पत्रकार

बजरंग दल के विभाग मंत्री राम कुमार आर्य ने स्थानीय पत्रकारों से कहा कि मुस्तकीम-नौशाद शातिर अपराधी थे। वे नाम पता बदलकर अपराध करते थे। इस बात की पुष्टि हो चुकी है। ऐसे में जो उनकी पैरवी करेगा वह उनका समर्थक होगा। इसलिए जेएनयू-एएमयू वालों पर मुकदमा दर्ज किया जाए। वहीं, एएमयू छात्रसंघ के निवर्तमान अध्यक्ष बोले, “हम लोग मुस्तकीम-नौशाद के यहां गए थे। फिर पुलिस के पास गए, जहां उन्होंने भगवाधारी गुंडे बुलाए। पर हम राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग में शिकायत देंगे।”

उधर, मुस्तकीम की पत्नी हिना ने एएमयू के निवर्तमान व पूर्व अध्यक्ष को नामजद करते हुए सास शबाना व शाहीन उर्फ रानी का अपरहण करने का आरोप लगाया। एसपी देहात मणिलाल पाटीदार ने बताया, “हिना का आरोप है कि एएमयू छात्र दोपहर को आए और सास को जबरन साथ ले गए। तहरीर पर छात्रनेता मशकूर, फैजुल समेत कई अज्ञात पर मुकदमा दर्ज हुआ है। जांच जारी है।”

वहीं, एसएसपी अजय कुमार साहनी ने स्थानीय मीडिया को बताया कि नौशाद-मुस्तकीम के परिजन के मकान मालिक ने खालिद व अन्य छात्र नेताओं को आने से मना किया। पर वे जबरन घुस आए थे। वे इसके बाद थाने आए, जहां उन्होंने विवाद किया। लापता दोनों महिलाएं उनके साथ तो नहीं गईं? हम इस बात की जांच कर रहे हैं। जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App