X

हार्दिक पटेल बोले- हमारे दोनों बेटे पेट्रोल और डीजल कंट्रोल में नहीं हैं, लोग करने लगे ट्रोल

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में वृद्धि के बहाने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। पेट्रोलियम उत्‍पादों की कीमत में 25 मई को लगातार 12वें दिन वृद्धि हुई।

पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों पर शुरू हुई राजनीति थमने का नाम नहीं ले रही है। इसमें अब गुजरात के पाटीदार नेता हार्दि‍क पटेल भी कूद पड़े हैं। उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा है। हार्दिक ने ट्वीट किया, ‘हमारे दो बच्‍चे पेट्रोल और डीजल हमारे कंट्रोल में नहीं हैं। कृपा करके हमसे फरियाद न करें- विकास के पापा।’ उनका ट्वीट सामने आते ही लोगों ने उन्‍हें ट्रोल करना शुरू कर दिया। उन्‍हें शुद्ध हिंदी लिखने की भी नसीहतें दी गईं। हार्दिक पटेल पीएम मोदी के गृह राज्‍य गुजरात में उनके खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। उन्‍होंने विधानसभा चुनाव के वक्‍त भी बीजेपी के खिलाफ झंडा बुलंद किया था। हार्दिक ने चुनावों में कांग्रेस का साथ दिया था। हालांकि, इसके बावजूद भाजपा सत्‍ता में वापसी करने में कामयाब रही थी। पाटीदार नेता ने पटेलों को आरक्षण देने की मांग के साथ राज्‍य में व्‍यापक पैमाने पर विरोध प्रदर्शन शुरू किया था। आरक्षण के लिए शुरू उनके आंदोलन ने जल्‍द ही राजनीतिक रूप ले लिया था। वह राज्‍य के अनेक हिस्‍सों में जाकर गुजरात में सत्‍तारूढ़ भाजपा सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। उनके अलावा दलित नेता जिग्‍नेश मेवानी ने भी गुजरात सरकार के खिलाफ मोर्चा खो दिया था। यही वजह है‍ कि इस बार के विधानसभा चुनावों में भाजपा ने पूर्ण बहुमत तो हासिल कर लिया था, लेकिन पार्टी को 100 से भी कम सीटें आई थीं।


बता दें कि देश में डीजल और पेट्रोल की कीमतों में लगातार वृद्धि हो रही है। पेट्रोलियम उत्‍पादों की कीमतों में 25 मई को लगातार 12वें दिन भी बढ़ोत्‍तरी हुई। ऐसे में पेट्रोल और डीजल की कीमतें रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई हैं। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में उपभोक्ता को एक लीटर पेट्रोल के लिए 85.65 रुपये चुकाने पड़ रहे हैं। पेट्रोल की कीमत में 12वें दिन 36 पैसे की वृद्धि दर्ज की गई। वहीं, डीजल भी 24 पैसे और महंगा हो गया है। पेट्रोलियम उत्‍पादों की लगातार बढ़ती कीमतों को नियंत्रित करने के लिए मोदी सरकार पर दबाव बढ़ता जा रहा है, लेकिन सरकार सब्सिडी देने के मूड में नहीं है। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने इसको लेकर कुछ संकेत जरूर दिए हैं। उन्‍होंने कहा कि पेट्रोलियम उत्‍पादों को जीएसटी के दायरे में लाने पर ही पेट्रोल और डीजल की कीमतें कम होंगी। साथ उन्‍होंने यह भी कहा कि उपभोक्‍ताओं को फौरी राहत मुहैया कराने के उपायों पर विचार किया जा रहा है। वहीं, भूतल एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने 24 मई को पेट्रोल और डीजल पर सब्सिडी देने की बात को खारिज किया था।

  • Tags: Hardik Patel, Petrol Price News,