ताज़ा खबर
 

हार्दिक रिहा पर मोबाइल इंटरनेट सेवाएं हिरासत में

पटेल आरक्षण के लिए आंदोलन चला रहे हार्दिक पटेल को उनकी ‘एकता यात्रा’ से पहले सूरत से गिरफ्तार किया गया, गुजरात प्रशासन ने मोबाइल इंटरनेट सेवाओं...

Author सूरत/अमदाबाद | September 20, 2015 8:58 AM
गुजरात प्रशासन ने राज्यभर में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर भी रोक लगा दी। हार्दिक पटेल (22) को हिरासत में लिए जाने के बाद कुछ स्थानों पर समुदाय के सदस्यों ने प्रदर्शन किए। (पीटीआई फोटो)

पटेल आरक्षण के लिए आंदोलन चला रहे हार्दिक पटेल को उनकी ‘एकता यात्रा’ से पहले निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के मामले में शनिवार को 35 समर्थकों के साथ सूरत से गिरफ्तार किया गया, हालांकि अदालत से जमानत मिलने पर हार्दिक को रिहा भी कर दिया गया।। गुजरात प्रशासन ने राज्यभर में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर भी रोक लगा दी। हार्दिक (22) को हिरासत में लिए जाने के बाद कुछ स्थानों पर समुदाय के सदस्यों ने प्रदर्शन किए।

राज्य प्रशासन ने कहा कि उसने अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए राज्य में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगाई। अभी तक कहीं से किसी हिंसक घटना की कोई खबर नहीं है। लेकिन पटेल समुदाय के सदस्यों ने विरोध प्रदर्शन किए। कुछ स्थानों पर सड़क जाम करने का भी प्रयास किया।

सूरत के पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने कहा कि हमने हार्दिक पटेल को उनके 35 समर्थकों के साथ एकता मार्च से पहले शहर के वरछा क्षेत्र में मंगध चौक से हिरासत में ले लिया। उन्हें कानून व्यवस्था के हित में हिरासत में लिया गया। उन्होंने रैली के लिए प्रशासन से अनुमति नहीं ली थी। डांडी से अमदाबाद तक रैली निकालने की अनुमति नहीं मिलने के बाद हार्दिक ने एकता रैली के बारे में शुक्रवार तक अपनी योजना गुप्त रखी थी।

इससे पहले हार्दिक के सहयोगी और सूरत में पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के संयोजक अल्पेश कठीरिया ने घोषणा की कि वे शहर के वरछा क्षेत्र में मंगध चौक से रैली निकालेंगे। हिरासत में लिए गए हार्दिक ने पुलिस कार्रवाई की निंदा करते हुए पत्रकारों से कहा कि राज्य सरकार हमारी आवाज दबाना चाहती है। वह हमें प्रताड़ित करना चाहती है। यह लोकतांत्रिक भावना के खिलाफ है।

पुलिस महानिदेशक पीसी ठाकुर ने कहा कि हमने कानून व्यवस्था बनाए रखने और अफवाहों पर अंकुश लगाने के लिए अनिश्चितकाल के लिए पूरे प्रदेश में मोबाइल इंटरनेट सेवा पर रोक लगाने का फैसला किया। पिछली बार 25 अगस्त को हार्दिक को हिरासत में लिए जाने के बाद हिंसा भड़क गई थी। लेकिन इस बार समुदाय के सदस्य हार्दिक की हिरासत के खिलाफ अहिंसक प्रदर्शन कर रहे हैं।

सौराष्ट्र क्षेत्र के मोरबी इलाके में हिरासत के खिलाफ प्रदर्शन करने निकले करीब 300 महिलाओं और पुरुषों को हिरासत में लिया गया। भावनगर में और जामनगर के धरोल में भी लोगों ने प्रदर्शन किया और सड़क जाम करने का प्रयास किया। सूरत में कुछ स्थानों पर और सुरेंद्रनगर जिले के लख्तर गांव में पटेल समुदाय की महिलाओं ने प्रदर्शन किया। राज्य में पटेल बहुल इलाकों में सुरक्षा कड़ी की गई है।

गुजरात में पटेल समुदाय का मजबूत चेहरा बनकर उभरे हार्दिक ओबीसी कोटे के तहत पटेल समुदाय को आरक्षण देने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। पिछले दो हफ्तों में हार्दिक ने दो बार ‘उल्टा डांडी मार्च’ निकालने की घोषणा की थी, लेकिन नवसारी जिला प्रशासन की अनुमति नहीं मिलने पर उन्होंने इसे रद्द कर दिया। हार्दिक 25 अगस्त को हुई रैली में अपने आक्रामक भाषण और उसके बाद राज्य में हुई हिंसा के बाद से सुर्खियों में हैं। इस हिंसा में 10 लोग मारे गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App