scorecardresearch

ज्ञानवापी केसः…तो भीड़तंत्र इकट्ठा हो जाएगा, लोग लाठी-डंडा ले पहुंचेंगे और कब्जा कर लेंगे- बोले वकील, देखें- फिर क्या हुआ

सुप्रीम कोर्ट ने जाने माने वकील अश्विनी उपाध्याय ने कहा, “अगर कोर्ट के जरिए विवाद का समाधान नहीं होगा तो यहां भीड़तंत्र हावी हो जाएगा। जिसकी जितनी संख्या भारी, वो लाठी-डंडा लेकर पहुंचेंगे और कब्जा कर लेगा।”

Gyanvapi Mosque| Kashi| varanasi|
ज्ञानवापी मस्जिद (फोटो सोर्स: PTI)

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में हुए सर्वे के बाद हिंदू पक्षकारों ने दावा किया है कि परिसर में शिवलिंग मिला है। जोकि नंदी की मूर्ति के ठीक सामने स्थित है। बता दें कि इस दावे के बाद से वाराणसी कोर्ट ने एक आदेश में शिवलिंग को सुरक्षा प्रदान करने का आदेश जारी किया है। वहीं शिवलिंग के दावे को लेकर टीवी डिबेट में भी खूब बहस हो रही है।

इस मुद्दे पर आजतक के एक डिबेट शो में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता अश्विनी उपाध्याय और सुप्रीम कोर्ट के जाने-माने अधिवक्ता असगर खान शामिल हुए। इस दौरान दोनों के बीच बहसबाजी देखने को मिली। बता दें कि इस डिबेट में असगर खान ने शिवलिंग के दावे पर कहा कि वो फव्वारा है। लेकिन मुझे अफसोस है कि उस फव्वारे को शिवलिंग बताकर शिवलिंग की तौहीन हो रही है।

इसपर एंकर ने कहा, “असगर साहब, कौन तौहीन कर रहा है, ये तो बाद में पता चलेगा। लेकिन आपको भी यह समझना चाहिए कि हिंदू पक्ष सिर्फ दावा कर रहा है कि वहां शिवलिंग। लेकिन आप उसे फव्वारा बता रहे हैं। आप भी कहिए ना कि ऐसा दावा है। आप वहां थोड़ी न खुद गये थे।”

एंकर ने कहा, “अगर फव्वारा है तो चलाइए ना उसे, अगर बिजली है, पानी है, कहां से क्या है वहां। इसमें आपको दावा शब्द का इस्तेमाल करना चाहिए।”

वहीं शो में मौजूद अश्विनी उपाध्याय ने कहा, “अगर कोर्ट के जरिए विवाद का समाधान नहीं होगा तो यहां भीड़तंत्र हावी हो जाएगा। जिसकी जितनी संख्या भारी, वो लाठी-डंडा लेकर पहुंचेंगे और कब्जा कर लेगा।”

ज्ञानवापी केस पर RSS की प्रतिक्रिया: बता दें कि ज्ञानवापी केस को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। संघ ने कहा है कि इससे जुड़े तथ्यों को सामने आने देना चाहिए। अधिक समय तक सच को छिपाया नहीं जा सकता।

19 मई, 2022 को आरएसएस के संवाद प्रकोष्ठ इंद्रप्रस्थ विश्व संवाद केंद्र के पत्रकार सम्मान समारोह में संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर ने यह बातें कहीं। उन्होंने कहा कि जो भी तथ्य हैं वो सामने आ रहे हैं। मैं मानता हूं कि तथ्य को सामने आने देना चाहिए। किसी भी स्थिति में सच्चाई सामने आएगी ही।’’

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X