ताज़ा खबर
 

साल भर में 13 किलो घटा वजन, पक गई दाढ़ी, जेल में ऐसे कट रही राम रहीम की जिंदगी

सूत्रों का कहना है कि राम रहीम का वजन घटने की वजह चिंता है या कसरत, इसकी जानकारी वो खुद ही दे सकता है।

राम रहीम को बलात्‍कार व यौन शोषण के मामले में पहले ही बीस साल की जेल हो गई है।

बलात्कार के दोष में करीब एक साल से हरियाणा की सुनारिया जेल में बंद गुरमीत राम रहीम का वजन करीब 13 किलो तक कम हो गया है। अब उसका वजह 92 किलो रह गया है। पिछले साल 25 अगस्त को जब उसे जेल भेजा गया था तब उसका वजन 105 किलो था। उसके चेहरे की चमक भी फीकी पड़ गई है और दाढ़ी सफेद हो चुकी है। सूत्रों का कहना है कि राम रहीम का वजन घटने की वजह चिंता है या कसरत, इसकी जानकारी वो खुद ही दे सकता है। राम रहीम को सीबीआई कोर्ट ने अलग-अलग मामलों में 10-10 साल की सजा सुनाई थी। जानकारी के मुताबिक सुबह पांच से रात दस बजे तक बाबा का रूटीन एक आम कैदी की तरह होता है। आधा एकड़ की उसकी बैरक में चारों तरफ आठ फीट ऊंची दीवार है। उसकी कोठरी 15 फीट लंबी है और 10 फीट चौड़ी है। जानकारी के मुताबिक दूसरे कैदियों की तरह बलात्कारी राम रहीम को सुबह साढ़े छह बजे बैरक के लॉन में भेज दिया जाता है। बैरक के लॉन में उसने सब्जियां उगाई हैं। इन सब्जियों को जेल की मेस में भी भेजा जाता है। इसके बदले में उसे हर रोज बीस रुपए मिलते हैं। अगर किसी केस में उसकी सुनवाई होती है तो उसका आधा दिन यू हीं निकल जाता है। ये सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होती है। राम रहीम किताबें भी पढ़ता है। सूत्रों का कहना है कि उसे मुंशी प्रेमचंद की कहानियां खासी पसंद है।

टीवी चैनलों की खबर के मुताबिक 12 अगस्त से गुरमीत राम रहीम के जन्मदिन पर उसके भक्तों द्वारा भेजे कार्ड से जेल में अंबार लग गया है। एक टन से ज्यादा इन कार्ड्स को हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश के अलावा उत्तराखंड सहित अन्य राज्यों से भेजा गया है। जेल में इन दिनों आ रहीं डाक में 90 फीसदी राम रहीम की हैं। कार्ड बांट रहे डाकिए के मुताबिक उसने पिछले दस सालों में एक शख्स के इतने ग्रीटिंग कार्ड पहले कभी नहीं देखे। इन कार्ड में लिखा है, लव यू पापा, तुम जियो हजारों साल, मिस यू पापा, तुम जल्दी बाहर आना जैसे बधाई संदेश लिखे हैं। बता दें कि राम रहीम को जिस वक्त कैंटीन से कुछ सामान लेना होता है कि अन्य कैदियों को उनकी बैरक में बंद कर दिया जाता है। कैंटीन के कर्मचारियों और सुरक्षाकर्मियों के अलावा उसे कोई देख नहीं पाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App