ताज़ा खबर
 

गुजरात: दरगाहों पर आपत्तिजनक टिप्पणी! मुसलमानों की भावनाएं आहत करने के आरोप में डॉक्टर गिरफ्तार

कुछ दिन पहले डॉक्टर का एक विडियो वायरल हुआ था। उस विडियो में वली दरगाहों को झूठी मान्यताओं का अड्डा कह रहे थे। हालांकि गिरफ्तारी के बाद उन्हें शुक्रवार को जमानत पर रिहा कर दिया गया।

crimeप्रतीकात्मक फोटो (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

doctor arrested for hurting religious sentiments: गोधरा पुलिस ने गुरुवार रात एक स्त्री रोग विशेषज्ञ को गिरफ्तार किया है। सुजात वली नाम के इस डॉक्टर पर दरगाहों पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर मुसलमानों की भावनाएं आहत करने का आरोप है। कुछ दिन पहले डॉक्टर का एक विडियो वायरल हुआ था। उस विडियो में वली दरगाहों को झूठी मान्यताओं का अड्डा कह रहे थे। हालांकि गिरफ्तारी के बाद उन्हें शुक्रवार को जमानत पर रिहा कर दिया गया।

जांच अधिकारी एच.सी. रथवा ने कहा “विडियो एविडेन्स के आधार पर हमने डॉक्टर वली को गिरफ्तार किया और उसे अदालत में पेश किया। उन्हें आज जमानत पर रिहा कर दिया गया। उन्होंने बाद में माफी मांगते हुए एक वीडियो भी पोस्ट किया।” रविवार को वीडियो वायरल होने के बाद 100 से अधिक लोगों ने मार्च निकाला और वली के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करने के लिए पुलिस अधीक्षक को एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में आरोप लगाया गया कि वली ने पहले भी इसी तरह का कंटैंट अपलोड किया था। इस बार उसे दंडित किया जाना चाहिए ताकि वह दोबारा ऐसा न करे।

वली को रविवार को आईपीसी की धारा 295 (ए) (किसी भी वर्ग के धर्म का अपमान करने के इरादे से पूजा स्थल को अपवित्र करना) और आईपीसी 298 (किसी भी व्यक्ति की धार्मिक भावनाओं को आहात करने के इरादे से जानबूझकर अपशब्दों का प्रयोग) के तहत बुक किया गया था। शिकायत के अनुसार, वली, खुद बोहरा समुदाय के सदस्य है। वली ने मुस्लिम समुदाय की भावनाओं को आहत करते हुए प्रसिद्ध सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की अजमेर दरगाह को “अपवित्र और अपमानित” किया था।

Next Stories
1 बंगाल में 2 लाख लोगों से संपर्क करेगी विश्व हिंदू परिषद, समझाएगी ‘घुसपैठ के नुकसान’
2 Pradhan Mantri Ujjwala Yojana: मोदी सरकार ने 7 महीने पहले ही पूरा कर लिया टार्गेट, 8 करोड़ गरीब परिवारों को मिले LPG सिलेंडर
3 मोदी सरकार के मंत्री मेघवाल का दावा- ऑटो सेक्टर की समस्या छोटी, सुलझा लिया जाएगा
ये पढ़ा क्या?
X