ताज़ा खबर
 

डिबेट में उठा ‘जय श्रीराम’ नारे का मुद्दा, हंसी ना रोक पाए आशुतोष, एंकर ने भी दागा काउंटर सवाल

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता ने कहा "आम आदमी पार्टी कभी भी धर्म के नाम पर वोट नहीं मांगती है। हम लोगों को लड़ाने का काम नहीं करते हैं।"

Gujrat electionगुजरात के सूरत में रोड शो के दौरान दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया। (फोटो-पीटीआई)

गुजरात में निकाय चुनाव में भाजपा और आम आदमी पार्टी की जीत के बाद टीवी चैनलों पर राजनीतिक दलों के प्रवक्ताओं में जनादेश को लेकर बहस शुरू हो गई है। डिबेट में जय श्रीराम का मुद्दा भी उठा। आम आदमी पार्टी का कहना है कि गुजरात की जनता चाहती है कि वहां भी दिल्ली की तरह शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, पानी और बिजली की व्यवस्था बेहतर हो। इसीलिए वहां की जनता ने आप को वोट दिया है।

टीवी चैनल न्यूज-24 पर डिबेट के दौरान एंकर मानक गुप्ता ने आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता जैसमीन से पूछा कि क्या आप जय श्रीराम के नारे से जीते हैं। अगर उसी रास्ते पर चल रहे हैं तो आप और भाजपा में अंतर क्या है? इस पर जैसमीन ने कहा, “आम आदमी पार्टी ने वैकल्पिक राजनीति का नारा दिया था। यह चुनाव हमने केवल ईमानदार राजनीति से जीता है और जिस तरह से पिछले पांच साल में दिल्ली में शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, पानी और बिजली की व्यवस्था सुधारने का काम किया है, वह सत्तर साल में नहीं हुई। और जय श्रीराम का नारा हिंदुओं का नारा है भाजपा का नहीं।”

कहा कि “आम आदमी पार्टी कभी भी धर्म के नाम पर वोट नहीं मांगती है। हम लोगों को लड़ाने का काम नहीं करते हैं। गुजरात के लोगों ने ईमानदार राजनीति और जो केवल और केवल आम आदमी के लिए कार्य करती है, उसको वोट दिया है।”

राजनीतिक विश्लेषक आशुतोष ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने गोवा को छोड़कर जहां-जहां चुनाव में खड़ी हुई है कोई खास सफलता नहीं पाई है। इसलिए अब उसने भी अपनी रणनीति बदली है और मान लिया है कि जीत के लिए जै श्रीराम का नारा लगाना पड़ेगा। इस पर आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता जैसमीन शाह ने कहा आशुतोष जी दिल्ली में रहते हैं, लेकिन अंजान बने हुए हैं। उन्होंने खुद देखा है कि दिल्ली में कितना बदलाव हुआ है, उसके बाद भी ऐसा कह रहे हैं।

Next Stories
1 अगर कृषि बिल वापस नहीं लिए तो संसद का घेराव करेंगे किसान, राकेश टिकैत की केंद्र को धमकी
2 बिहार: फौजी ने महिला ASI को पीटा, उसके बाद जो हुआ चौंका देगा आपको
3 रामदेव की कोरोनिल को झटका! ब्रिकी पर महाराष्ट्र में रोक, गृह मंत्री बोले- WHO, IMA प्रमाणपत्र के बिना बेचने नहीं देंगे
ये पढ़ा क्या?
X