BJP शासित गुजरात के CM विजय रूपाणी का इस्तीफा, बोले- हम मोदी के नेतृत्व में लड़ते हैं, हमारे नेतृत्व का सवाल नहीं

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा में कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारियां बदलती रहती हैं।

गुजरात के मुख्यमंत्री पद से विजय रूपाणी का इस्तीफा। फोटो- ट्विटर हैंडल विजय रूपाणी

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। भाजपा के संगठन मंत्री बीएल संतोष कल गुजरात पहुंचे थे। इसके बाद ही कयास लगाए जा रहे थे कि वह इस्तीफा दे सकते हैं। राज्यपाल से मिलने के बाद खुद रूपाणी ने इस्तीफे का ऐलान किया। बता दें कि 2022 में गुजरात में विधानसभा का चुनाव होना है।

गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत से मिलकर रूपाणी ने अपना इस्तीफा सौंप दिया। इस्तीफा देने के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए रुपाणी ने कहा, ‘मैं भारतीय जनता पार्टी के प्रति अपना आभार व्यक्त करता हूं कि मेरे जैसे एक कार्यकर्ता को गुजरात के मुख्यमंत्री पद की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी। इस दायित्व को अच्छी तरह से निभाते हुए मेरे कार्यकाल के दौरान प्रधानमंत्री मोदी का विशेष मार्गदर्शन मिलता रहा है। उनके नेतृत्व और मार्गदर्शन में गुजरात ने नए आयाम छुए हैं।’

उन्होंने आगे कहा, ‘मुझे गुजरात के लिए जो कुछ करने का आवसर मिला उसके लिए मैं माननीय प्रधानमंत्री जी का आभारी हूं। अब नए नेतृत्व में यह यात्रा आगे बढ़नी चाहिए। यह ध्यान में रखकर मैंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया है। भाजपा की परंपरा रही है कि समय के साथ कार्यकर्ताओं के दायित्व बदलते रहते हैं। जो दायित्व पार्टी द्वारा दिया जाता है पूरे मनोयोग से कार्यकर्ता उसका निर्वहन करते हैं।’

रूपाणी ने कहा कि अब पार्टी के द्वारा जो भी जिम्मेदारी दी जाएगी, उसका निर्वहन करूंगा। पत्रकारों ने उनसे पूछा कि वह विकास के काम कर रहे थे तो इस्तीफा क्यों देना पड़ा? इसपर रुपाणी ने कहा, संगठन के साथ कोई तकरार नहीं है। संगठन सर्वोपरि है। गुजरात के विकास का काम जैसे पहले चल रहा था, वैसे ही चलता रहेगा।

अगले मुख्यमंत्री के सवाल पर रूपाणी ने कहा कि इसका फैसला पार्टी करेगी। विजय रूपाणी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पांच साल की उपलब्धियां गिनाईं। वह 2017 में गुजरात के मुख्यमंत्री बने थे। पिछले डेढ़ साल से संगठन और सरकार के बीच कुछ टकराव की खबरें आ रही थीं। नगर निगम के चुनाव में भी दो तिहाई से ज्यादा के बहुमत से भाजपा ने चुनाव जीता था। इसके बाद भी क्रिडिट को लेकर राज्य सरकार और संगठन के बीच तकरार देखी गई थी।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।