ताज़ा खबर
 

गुजरात: सरकारी कोविड अस्पताल में कोरोना से बचने के लिए यज्ञ; उधर लाशों के अंतिम संस्कार तक का इंतज़ाम नहीं

कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ रहे मामलों के कारण अहमदाबाद के सबसे बड़े कोविड अस्पताल का बुरा हाल है। यहां कोरोना संक्रमितों के लिए 1200 बेड का इंतजाम किया गया था लेकिन सभी बेड भर चुके हैं।

Corona, covid-19, Gujaratकोरोना से बचने के लिए गुजरात के एक सरकारी अस्पताल में यज्ञ करवाया गया (फोटो- TOI)

देश में कोरोना संक्रमण के आंकड़े हर दिन बढ़ते जा रहे हैं। बुधवार सुबह जारी रिपोर्ट के अनुसार पिछले 24 घंटे में 1,84,372 नए मामले सामने आए हैं। इधर गुजरात के सूरत में एक सरकारी अस्पताल में कोरोना से बचने के लिए यज्ञ का आयोजन किया गया था। आर्य समाज के लोगों द्वारा अस्पताल में यज्ञ किया गया। आर्य समाज के सदस्यों ने बताया कि उन्हें अस्पताल प्रबंधन की तरफ से यज्ञ करने के लिए कहा गया था।

आर्य समाज के अध्यक्ष उमाशंकर आर्य ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि हमने इससे पहले रामनाथ घेला और कुरुक्षेत्र श्मशान घाटों पर भी यज्ञ किया था। अस्पताल के डीन की तरफ से हमें कोविड अस्पताल के सामने यज्ञ करने के लिए बुलाया गया था।बताते चलें कि गुजरात में कोरोना संकट लगातार बढ़ रहा है। खबरों के अनुसार यहां हर घंटे 3 लोगों की जान जा रही है। मरीजों को ऑक्सीजन नहीं मिलने से सांस उखड़ रही है। अस्पतालों में बेड नहीं मिलने के कारण मरीज एंबुलेंस में ही दम तोड़ दे रहे हैं। मौत के बाद भी अंतिम संस्कार के लिए उन्हें लंबा इंतजार करना पड़ रहा है।

गुजरात में पिछले 24 घंटे में 6,690 मरीज सामने आए हैं। राजधानी अहमदाबाद में 2,251 नए कोविड केस सामने आए हैं। सूरत में एक हजार लोग संक्रमित पाए गए हैं। पिछले 24 घंटे में अहमदाबाद में 23 लोगों की मौत की खबर है। यही हालत राज्य के अन्य शहर राजकोट और पोरबंदर का भी है। राजकोट में 529 मामले सामने आए हैं।

कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ रहे मामलों के कारण अहमदाबाद के सबसे बड़े कोविड अस्पताल का बुरा हाल है। यहां कोरोना संक्रमितों के लिए 1200 बेड का इंतजाम किया गया था लेकिन सभी बेड भर चुके हैं। जिस कारण से अब मरीजों को बाहर ही रोक दिया जा रहा है। अहमदाबाद के सिविल अस्पतालों के कैंपस के बाहर एंबुलेंस कतारों में खड़ी है। मरीज बेड खाली होने का इंतजार कर रहे हैं।

लगातार चौथे दिन देश में डेढ़ लाख से अधिक मामले: इधर पूरे देश में कोरोना से हड़कंप है। लगातार चौथे दिन देश में डेढ़ लाख से अधिक मामले सामने आए हैं। पिछले 24 घंटे में देश में 1027 मरीजों की मौत हुई है। 18 अक्टूबर 2020 के बाद से मौतों की यह सबसे बड़ी संख्या है।

Next Stories
1 छत्तीसगढ़: कोरोना मरीजों के लिए 8 बेड्स की ICU फैसिलिटी, एक्टिव केस 10 हजार पार, इस छोटे शहर में कहर बरपा रही संक्रमण की दूसरी लहर
2 गोवा में भाजपा को झटका, गोवा फॉरवर्ड पार्टी ने NDA से किया किनारा
3 यूपी के कानून मंत्री ने अपनी ही सरकार पर उठाई उंगली; बोले- ‘लखनऊ में कोरोना से निपटने में हो रही भारी लापरवाही, हमारे फोन पर भी नहीं हो रहा एक्शन’
यह पढ़ा क्या?
X