ताज़ा खबर
 

पटेल समुदाय का सर्वेक्षण करेगा गुजरात OBC आयोग

गुजरात अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) आयोग ने राज्य में पटेल समुदाय के 14 लाख परिवारों में सर्वेक्षण के लिए कथित तौर पर एक प्रश्नावली तैयार करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

Author कोलकाता | Published on: April 28, 2016 2:08 AM
(Express Photo)

गुजरात अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) आयोग ने राज्य में पटेल समुदाय के 14 लाख परिवारों में सर्वेक्षण के लिए कथित तौर पर एक प्रश्नावली तैयार करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। यह कदम पटेल आरक्षण आंदोलन के बाद लिया गया है। इससे यह पता लगाया जा सके कि क्या पटेल समुदाय को ओबीसी दर्जा दिया जा सकता है।

आयोग ने विषय विशेषज्ञ के तौर पर समाजशास्त्री गौरंग जानी को सदस्य नियुक्त किया है। गौरंग जानी ने कहा कि अभी तक पटेलों के कम से कम सात अलग-अलग उपसमुदायों ने पटेलों को ओबीसी के तौर पर शामिल करने के लिए अपने आवेदन दिए हैं। उन्होंने कहा कि अगस्त में पटेल आरक्षण आंदोलन शुरू होने के बाद से आयोग को पटेल समुदाय की ओर से कम से कम सात आवेदन प्राप्त हुए हैं। आयोग ने समुदाय का सर्वेक्षण करने के वास्ते एक प्रश्नावली तैयार करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है जिससे की एक रिपोर्ट तैयार की जा सके।

गुजरात ओबीसी आयोग का नेतृत्व हाई कोर्ट की सेवानिवृत्त न्यायाधीश सुगन्यबेन भट्ट कर रही हैं। वर्तमान में गुजरात में 146 अधिसूचित ओबीसी समुदाय हैं। सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देश के मुताबित ओबीसी दर्जा चाहने वाले किसी भी समुदाय को पहले आयोग से संपर्क करना होता है।

जानी ने कहा कि गुजरात की आबादी में पटेल करीब 12 फीसद हैं। इसके तहत पटेलों की आबादी 70 लाख है जबकि पटेल परिवारों की संख्या करीब 14 लाख हो सकती है। सर्वेक्षण के लिए प्रश्नावली में कुछ सामान्य प्रश्न होते हैं जिससे आयोग को समुदाय के सामाजिक एवं शैक्षणिक ‘पिछड़ेपन’ का पता लगाने में मदद मिलती है। उन्होंने कहा कि पटेलों के अलावा सौराष्ट्र व कच्छ क्षेत्र के एक व्यापारी समुदाय ‘लोहाना’ ने भी आयोग में ओबीसी दर्जे के लिए आवेदन दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
जस्‍ट नाउ
X