ताज़ा खबर
 

गुजरात निकाय चुनाव: भाजपा का दबदबा कायम, कांग्रेस का हुआ सफाया

जिला पंचायत, तालुका पंचायत और नगरपालिका उपचुनावों में भाजपा ने 23 और कांग्रेस ने आठ सीटें फतेह की।

gujarat municipal election result, gujarat bypolls, gujaray bypoll result, vapi nagarpalika polls, kanakpur kansad nagarpalika polls, BJP, congress, narendra modi, bypoll elections 2016महाराष्‍ट्र के बाद भाजपा के लिए गुजरात से अच्‍छी खबर है। (File Photo)

महाराष्‍ट्र के बाद भाजपा के लिए गुजरात से अच्‍छी खबर है। यहां पर दो नगर पालिकाओं के चुनावों में भाजपा ने एकतरफा जीत दर्ज की है। केंद्र और राज्‍य में सत्‍ताधारी पार्टी को वापी नगरपालिका चुनाव में 44 में से 41 सीटें मिली हैं वहीं सूरत के कनकपुर- कनसाड़ नगरपालिका में 28 में से 27 सीटों पर विजय मिली। विपक्षी दल कांग्रेस को वापी में तीन और कनकपुर-कनसाड़ में एक सीट से संतोष करना पड़ा। वहीं जिला पंचायत, तालुका पंचायत और नगरपालिका उपचुनावों में भाजपा ने 23 और कांग्रेस ने आठ सीटें फतेह की। भाजपा के लिए लगातार दूसरे राज्‍य से स्‍थानीय चुनाव में जीत की खबर है। इससे पहले 28 नवंबर को महाराष्‍ट्र के स्‍थानीय निकायों के चुनावों में भी उसे बड़ी कामयाबी मिली थी।

गौरतलब है कि गुजरात में पिछले साल ग्रामीण और शहरी निकायों के चुनावों में भाजपा को झटका लगा था। हालांकि भाजपा ने ज्‍यादार निकाय जीते थे लेकिन कांग्रेस ने प्रभावशाली वापसी की थी। पटेल आंदोलन और फिर दलित युवकों की पिटाई के चलते भाजपा के लिए मुश्किलें खड़ी हो गई थी। इसके चलते मुख्‍यमंत्री पद से आनंदीबेन पटेल को हटा दिया गया था। विजय रुपाणी नए सीएम बने थे। साथ ही नितिन पटेल को उपमुख्‍यमंत्री बनाया गया था। लेकिन ताजा नतीजे उसके लिए राहत की सांस के समान होंगे। गुजरात 20 साल से भाजपा का गढ़ बना हुआ है। अगले साल यहां पर विधानसभा चुनाव होने हैं।

 

28 नवंबर को आए नतीजों में महाराष्‍ट्र में 147 नगर परिषद में भाजपा को 52 सीट, शिवसेना को 23, कांग्रेस को 19 और एनसीपी को 16 पर जीत मिली है। अन्‍य उम्‍मीदवारों के खाते में 28 सीटें गर्इ हैं। वहीं 17 नगर पंचायतों के 3510 सदस्‍यों के लिए हुए चुनाव में सत्‍ताधारी भाजपा को 851 सीटें मिली हैं। कांग्रेस के खाते में 643, एनसीपी को 638 और शिवसेना को 514, मनसे को 16, सीपीएम को 12, बसपा को 9, निर्दलीयों को 324, स्‍थानीय गठबंधनों को 384 और बाकियों को 119 सीटों पर जीत मिली है। पांच साल पहले साल 2011 में 147 नगर परिषदों में से 127 में भाजपा कहीं नहीं थी। वहीं नगर पंचायतों में उसे केवल 298 सीट मिली थी जबकि एनसीपी को 916, कांग्रेस को 771 और शिवसेना को 264 पर जीत मिली थी।

Next Stories
1 हिंदू लड़की मुस्लिम लड़का स्‍कूल में हुआ प्‍यार, किया मैत्री करार, अब कोर्ट ने भी दी बिना शादी साथ रहने की इजाजत
2 अहमदाबाद: कार से मिली 12.4 लाख रुपए की नकदी, 500 से भी ज्यादा थे 2000 रुपए के नोट
3 14 साल तक गुजरात के ऊर्जा मंत्री रहे सौरभ पटेल की कंपनी ने तेल खोज के लिए सरकारी कंपनियों से किया करार
ये पढ़ा क्या?
X