ताज़ा खबर
 

गुजरात हाई कोर्ट ने अस्पताल को कालकोठरी से बदतर बताया, डिप्टी सीएम नितिन पटेल बोले- 55 दिनों से बिना छुट्टी कर रहा काम

पटेल ने बताया, ‘गुजरात हाई कोर्ट ने कुछ सवाल पूछे हैं। कुछ दिशा-निर्देश दिए हैं। कुछ सुझाव भी दिए हैं और अपने विचार भी रखे हैं। मैंने मुख्यमंत्री, कानून मंत्री ने महाधिवक्ता कमल त्रिवेदी के साथ विस्तृत बैठक की है। राज्य सरकार अगले हफ्ते अपना जवाब दाखिल करेगी।’

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: May 25, 2020 12:53 PM
Gujarat minister Nitin Patel 850गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने प्रशासन विशेष रूप से खुद का बचाव किया। (फाइल फोटो)

गुजरात हाई कोर्ट द्वारा कोरोवायरस महामारी से निपटने को लेकर राज्य सरकार को फटकार लगाने के एक दिन बाद सूबे के उप मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री नितिन पटेल ने प्रशासन विशेष रूप से खुद का बचाव किया। नितिन पटेल ने कहा कि अपनी ढलती उम्र के बावजूद उन्होंने खुद कई अस्पतालों का दौरा किया है। नितिन पटेल इस जून में 65 साल के हो जाएंगे।

हाई कोर्ट की एक खंडपीठ ने शनिवार को अहमदाबाद सिविल अस्पताल को कालकोठरी से भी बदतर बताया था। अहमदाबाद का सिविल अस्पताल सूबे की सबसे बड़ी कोविड-19 फैकल्टी है। अदालत ने यहां तक ​​पूछा कि पटेल और मुख्य सचिव अनिल मुकीम को मरीजों और कर्मचारियों को होने वाली समस्याओं का क्या कोई आइडिया है?

नितिन पटेल ने रविवार को कहा, ‘मैंने पिछले दो महीनों में पांच बार सिविल अस्पताल का दौरा किया है। मैंने सिविल अस्पताल परिसर में सिविल हॉस्पिटल, किडनी हॉस्पिटल, हार्ट हॉस्पिटल के वरिष्ठ और अनुभवी और प्रसिद्ध निजी डॉक्टरों के साथ तीन बार बैठकें कीं। उन बैठकों में मुख्यमंत्री के चीफ प्रिंसिपल सेक्रेटरी के कैलाशनाथन, अतिरिक्त मुख्य सचिव पंकज कुमार और प्रिंसिपल सेक्रेटरी (स्वास्थ्य) जयंती रवि भी उन बैठकों में मौजूद थीं।’ पंकज कुमार सिविल अस्पताल की विशेष जिम्मेदारी भी संभाल रहे हैं।

पटेल के हवाले से जारी सरकारी बयान में कहा गया है, ‘मैं 22 जून को 65 वर्ष का हो जाऊंगा। दिशानिर्देशों के अनुसार, वरिष्ठ नागरिकों के लिए बाहर निकलना जोखिम भरा है। हमारे परिवार के सदस्य भी चिंतित हैं। वे हमें बाहर जाने से रोकते हैं। इसके बावजूद मैंने कभी भी बाहर जाने से परहेज नहीं किया।’

UP, Uttarakhand Coronavirus LIVE Updates:

पटेल ने बताया, ‘गुजरात हाई कोर्ट ने कुछ सवाल पूछे हैं। कुछ दिशा-निर्देश दिए हैं। कुछ सुझाव भी दिए हैं और अपने विचार भी रखे हैं। मैंने मुख्यमंत्री, कानून मंत्री ने महाधिवक्ता कमल त्रिवेदी के साथ विस्तृत बैठक की है। राज्य सरकार अगले हफ्ते अपना जवाब दाखिल करेगी।’

Bihar, Jharkhand Coronavirus LIVE Updates:

स्वास्थ्य मंत्री ने कितनी बार सिविल अस्पताल का दौरा किया, हाई कोर्ट के इस सवाल पर पटेल ने कहा, ‘मैं उन मामलों पर टिप्पणी नहीं करना चाहूंगा जो हाई कोर्ट के विचाराधीन हैं। मुझ पर जो आरोप लगे हैं उन पर मेरा इतना कहना है कि मैंने पिछले 55 दिनों से बिना अवकाश लिए काम किया है। स्वास्थ्य विभाग के कई मुद्दों में मैं निजी रूप से हस्तक्षेप किया है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 आंख खोलने वाले आंकड़े: स्मार्ट सिटी मिशन में सिर्फ 1% स्वास्थ्य सेवाओं के लिए, 100 करोड़ की 491 परियोजनाएं, सिर्फ 3 हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर की
2 India Domestic Flights ResumeHighlights: सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के लिए फ्लाइट की मिडिल सीट रहेगी खाली
3 MP में पोस्टर जंग! पूर्व CM के बाद अब लगे BJP के ज्योरिदित्य सिंधिया के गुमशुदगी वाले पोस्टर; आरोपी अरेस्ट
ये पढ़ा क्या?
X