scorecardresearch

गुजरात हाई कोर्ट ने अस्पताल को कालकोठरी से बदतर बताया, डिप्टी सीएम नितिन पटेल बोले- 55 दिनों से बिना छुट्टी कर रहा काम

पटेल ने बताया, ‘गुजरात हाई कोर्ट ने कुछ सवाल पूछे हैं। कुछ दिशा-निर्देश दिए हैं। कुछ सुझाव भी दिए हैं और अपने विचार भी रखे हैं। मैंने मुख्यमंत्री, कानून मंत्री ने महाधिवक्ता कमल त्रिवेदी के साथ विस्तृत बैठक की है। राज्य सरकार अगले हफ्ते अपना जवाब दाखिल करेगी।’

गुजरात हाई कोर्ट ने अस्पताल को कालकोठरी से बदतर बताया, डिप्टी सीएम नितिन पटेल बोले- 55 दिनों से बिना छुट्टी कर रहा काम
गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने प्रशासन विशेष रूप से खुद का बचाव किया। (फाइल फोटो)

गुजरात हाई कोर्ट द्वारा कोरोवायरस महामारी से निपटने को लेकर राज्य सरकार को फटकार लगाने के एक दिन बाद सूबे के उप मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री नितिन पटेल ने प्रशासन विशेष रूप से खुद का बचाव किया। नितिन पटेल ने कहा कि अपनी ढलती उम्र के बावजूद उन्होंने खुद कई अस्पतालों का दौरा किया है। नितिन पटेल इस जून में 65 साल के हो जाएंगे।

हाई कोर्ट की एक खंडपीठ ने शनिवार को अहमदाबाद सिविल अस्पताल को कालकोठरी से भी बदतर बताया था। अहमदाबाद का सिविल अस्पताल सूबे की सबसे बड़ी कोविड-19 फैकल्टी है। अदालत ने यहां तक ​​पूछा कि पटेल और मुख्य सचिव अनिल मुकीम को मरीजों और कर्मचारियों को होने वाली समस्याओं का क्या कोई आइडिया है?

नितिन पटेल ने रविवार को कहा, ‘मैंने पिछले दो महीनों में पांच बार सिविल अस्पताल का दौरा किया है। मैंने सिविल अस्पताल परिसर में सिविल हॉस्पिटल, किडनी हॉस्पिटल, हार्ट हॉस्पिटल के वरिष्ठ और अनुभवी और प्रसिद्ध निजी डॉक्टरों के साथ तीन बार बैठकें कीं। उन बैठकों में मुख्यमंत्री के चीफ प्रिंसिपल सेक्रेटरी के कैलाशनाथन, अतिरिक्त मुख्य सचिव पंकज कुमार और प्रिंसिपल सेक्रेटरी (स्वास्थ्य) जयंती रवि भी उन बैठकों में मौजूद थीं।’ पंकज कुमार सिविल अस्पताल की विशेष जिम्मेदारी भी संभाल रहे हैं।

पटेल के हवाले से जारी सरकारी बयान में कहा गया है, ‘मैं 22 जून को 65 वर्ष का हो जाऊंगा। दिशानिर्देशों के अनुसार, वरिष्ठ नागरिकों के लिए बाहर निकलना जोखिम भरा है। हमारे परिवार के सदस्य भी चिंतित हैं। वे हमें बाहर जाने से रोकते हैं। इसके बावजूद मैंने कभी भी बाहर जाने से परहेज नहीं किया।’

UP, Uttarakhand Coronavirus LIVE Updates:

पटेल ने बताया, ‘गुजरात हाई कोर्ट ने कुछ सवाल पूछे हैं। कुछ दिशा-निर्देश दिए हैं। कुछ सुझाव भी दिए हैं और अपने विचार भी रखे हैं। मैंने मुख्यमंत्री, कानून मंत्री ने महाधिवक्ता कमल त्रिवेदी के साथ विस्तृत बैठक की है। राज्य सरकार अगले हफ्ते अपना जवाब दाखिल करेगी।’

Bihar, Jharkhand Coronavirus LIVE Updates:

स्वास्थ्य मंत्री ने कितनी बार सिविल अस्पताल का दौरा किया, हाई कोर्ट के इस सवाल पर पटेल ने कहा, ‘मैं उन मामलों पर टिप्पणी नहीं करना चाहूंगा जो हाई कोर्ट के विचाराधीन हैं। मुझ पर जो आरोप लगे हैं उन पर मेरा इतना कहना है कि मैंने पिछले 55 दिनों से बिना अवकाश लिए काम किया है। स्वास्थ्य विभाग के कई मुद्दों में मैं निजी रूप से हस्तक्षेप किया है।’

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.