ताज़ा खबर
 

स्वास्थ्य सचिव के पति द्वारा बनाए ऐप पर COVID-19 मरीजों का डेटा स्टोर कर रही गुजरात सरकार, आयुक्त ने उठाया सवाल

इस ऐप का इस्तेमाल कोविड-19 रोगियों का डेटा अपलोड करने के लिए किया जा रहा है। ऐप के लिए सॉफ्टवेयर ArguSoft India Ltd ने बनाया है। इसके अध्यक्ष स्वास्थ्य और परिवार कल्याण की प्रमुख सचिव जयंती रवि के पति रवि गोपालन हैं।

Author Edited By AALOK SRIVASTAVA नई दिल्ली | Updated: April 30, 2020 10:46 AM
वडोदरा के नगरवाड़ा इलाके में एक व्यक्ति के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद स्वास्थ्य अधिकारी। (सोर्स- एक्सप्रेस फोटो)

गुजरात राज्य स्वास्थ्य आयुक्त जय प्रकाश शिवहरे ने ‘TeCHO+’ ऐप के बारे में डेटा प्राइवेसी, स्टोरेज और ओनरशिप (स्वामित्व) को लेकर अपनी चिंता जाहिर की है। इस ऐप का इस्तेमाल कोविड-19 (COVID-19) रोगियों का डेटा अपलोड करने के लिए किया जा रहा है। ऐप के लिए सॉफ्टवेयर ‘ArguSoft India Ltd’ ने बनाया है। इसके अध्यक्ष स्वास्थ्य और परिवार कल्याण की प्रमुख सचिव जयंती रवि के पति रवि गोपालन हैं।

गुजरात सरकार के सूत्रों ने पुष्टि की कि जय प्रकाश शिवहरे ने 16 अप्रैल को ‘TeCHO’ सॉफ्टवेयर को लेकर अपनी चिंता जाहिर की थी। उन्होंने कहा था कि इसके अपग्रेडेड वर्जन का इस्तेमाल करने में रोगी की सहमति, डेटा का स्वामित्व, डेटा स्टोरेज और इसके इस्तेमाल जैसे कुछ कानूनी पहलुओं को ध्यान में रखना आवश्यक है।

इन परिस्थितियों में, ‘TechoSoftware’ (टेकोसॉफ्टवेयर) ऐप का इस्तेमाल बढ़ाने के लिए ऐप के डेवलपर के साथ एक समझौता ज्ञापन होना चाहिए। सूत्रों ने बताया कि शिवहरे ने ‘ArguSoft India Ltd’ के साथ डेटा साझा करने को लेकर अपनी चिंता जाहिर की थी।

हालांकि, शिवहारे ने इस मुद्दे पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, लेकिन गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ को बताया, ‘मुझे इस संबंध में मीडिया से ही सूचना मिली है, लेकिन इसके अलावा मुझे कोई अन्य जानकारी नहीं है।’ बता दें कि स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी भी नितिन पटेल के पास ही है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें:
कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा
जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए
इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं
क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

‘द इंडियन एक्सप्रेस’ के सवालों के जवाब में, जयंति रवि ने कहा, ‘जो भी आरोप हैं, बेबुनियाद हैं। यह सिद्धांतों का मामला है। मैंने और मेरे पति रवि गोपालन ने कई साल पहले फैसला किया था कि हम गुजरात सरकार के लिए मुफ्त में काम करेंगे।’ Argusoft India Ltd ने TeCHO+ को फ्री ऐप के तौर पर बनाया है। इसकी प्राइवेसी पॉलिसी में कहा गया है, बिना किसी लागत के सर्विस (सेवा) दी जाती है… और जैसा है वैसा ही इस्तेमाल करना है।

संयोग से, TeCHO + के ‘ईकोसिस्टम’ में दो अन्य ऐप MyTeCHO और DrTeCHO भी शामिल हैं। इनका गुजरात सरकार के साथ टाई-अप है। MyTeCHO के जरिए नागरिक सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं के बारे में शिकायत या अपनी प्रतिक्रिया दर्ज करा सकते हैं। हालांकि, एक अधिकारी ने बताया कि इसकी सेवाएं अभी अस्थायी रूप से रुकी हुईं थीं। DrTeCHO का इस्तेमाल निजी डॉक्टर SARI (गंभीर तीव्र श्वसन संक्रमण) या ILI (इन्फ्लुएंजा जैसी बीमारी) मामलों की जानकारी के लिए करते हैं। इसे COVID-19 महामारी के बाद तैयार किया गया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 लॉकडाउन के बाद रेलवे चला सकता है 400 स्पेशल ट्रेनें, तैयारियां पूरी, नॉन एसी ट्रेन में बैठेंगे सिर्फ 1000 यात्री
2 सुप्रीम कोर्ट में बोला जम्मू-कश्मीर प्रशासन- इंटरनेट नहीं मूलभूत अधिकार, आतंकी करते हैं इस्तेमाल
3 जनसत्ता विशेष स्मृति शेष: और बॉलीवुड, हॉलीवुड, दर्शक सभी बन गए इरफान के दीवाने