Gujarat Election Result 2017, Gujrat Vidhan Sabha Chunav Results 2017: Muslim dominated Dabhoi Assembly Constituency result, BJP won - गुजरात चुनाव नतीजे 2017: मुस्लिम प्रभाव वाले इस सीट पर दोबारा जीती बीजेपी, 55 साल का इतिहास रहा कायम - Jansatta
ताज़ा खबर
 

गुजरात चुनाव नतीजे 2017: मुस्लिम प्रभाव वाले इस सीट पर दोबारा जीती बीजेपी, 55 साल का इतिहास रहा कायम

Gujarat Election Chunav Result 2017 (गुजरात चुनाव नतीजे 2017): दभोई विधान सभा सीट पर बीजेपी के शैलेश भाई मेहता ने कांग्रेस के सिद्धार्थ चमनभाई पटेल को शिकस्त दी है।

Himachal Pradesh Election Result 2017: भाजपा के कार्यकर्ताओं में जीत से खुशी की लहर दौड़ रही है।

गुजरात विधान सभा चुनाव के नतीजे कई मायनों में अहम रहे हैं। बीजेपी ने जहां छठी बार सत्ता में वापसी की है, वहीं 22 साल से सत्ता से दूर रही कांग्रेस की सीटों और वोट प्रतिशत में इजाफा हुआ है। इससे इतर बड़ोदरा जिले के तहत आने वाले दभोई विधान सभा सीट पर आए चुनावी नतीजे ने 55 साल पुराने इतिहास को बरकरार रखा है। यहां भाजपा के उम्मीदवार ने जीत दर्ज की है। ऐसा कहा जाता रहा है और इतिहास रहा है कि यहां एक पार्टी से जीता उम्मीदवार दोबारा नहीं जीतता। इस बार भी ऐसा ही हुआ है। यहां बीजेपी के शैलेश भाई मेहता ने कांग्रेस के सिद्धार्थ चमनभाई पटेल को शिकस्त दी है।

बता दें कि दभोई मुस्लिम बहुल इलाका है। यहां 1962 से किसी एक राजनातिक पार्टी के एक ही उम्मीदवार की दोबारा जीत नहीं हुई है। शायद यही वजह है कि बीजेपी ने यहां से नया उम्मीदवार उतारा था। साल 2012 में यहां भाजपा के बालकृष्ण भाई पटेल चुनाव जीते थे लेकिन इस बार पार्टी ने शैलेष भाई मेहता को उम्मीदवार बनाया था।

बता दें कि दभोई विधान सभा क्षेत्र वडोदरा जिले और छोटा उदयपुर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है। दभोई में पाटीदार मतदाता भारी संख्या में हैं। इनकी संख्या 45,854 है। अगर, मुस्लिम मतदाताओं की बात करें तो उनकी संख्या 22,321 है। यहां एसटी के 47,040, बक्शी पंच (ओबीसी) वोटर्स 44,026, एसएसी 10,413, राजपूत 9,443 और ब्राह्मण 5,642 हैं। जनता दल (यूनाइटेड) के पूर्व नेता और इंडियन ट्राइबल पार्टी के नेता छोटूभाई वसावा की छवि यहां काफी अच्छी रही है और इस बार के चुनाव में उन्होंने कांग्रेस से हाथ मिला लिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App