ताज़ा खबर
 

गुजरात चुनाव: पहले चरण के लिए प्रचार थमने के बाद भी पीएम मोदी ने 9 दिसंबर के लिए मांगे वोट

गुजरात चुनाव: मोदी ने अपने संबोधन में 14 दिसंबर के साथ-साथ 9 दिसंबर को होने वाले मतदान के लिए भी जनता से बीजेपी के पक्ष में वोट डालने की अपील कर डाली।

गुजरात चुनाव: लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी (फोटो सोर्स- PTI)

गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण का चुनाव 9 दिसंबर को होना है, इसके लिए प्रचार थम गया है, लेकिन अभी भी 14 दिसंबर यानी दूसरे चरण के चुनाव के लिए प्रचार जारी है। शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दूसरे चरण के चुनाव के लिए प्रचार कर रहे हैं, इसके लिए आज अहमदाबाद के निकोल में उनकी एक रैली थी, जहां उन्होंने कुछ ऐसा बोल दिया जिसे लेकर अब विवाद पैदा होता दिख रहा है। मोदी ने अपने संबोधन में 14 दिसंबर के साथ-साथ 9 दिसंबर को होने वाले मतदान के लिए भी जनता से बीजेपी के पक्ष में वोट डालने की अपील कर डाली। जबकि पहले चरण के चुनाव के लिए प्रचार थम चुका है, लेकिन पीएम मोदी द्वारा वोट मांगना नया विवाद खड़ा कर सकता है। आचार संहिता के मुताबिक वोटिंग के 48 घंटे पहले ही चुनाव प्रचार थम जाता है, लेकिन पीएम मोदी ने दूसरे चरण के चुनाव के लिए प्रचार करते हुए 9 दिसंबर के लिए भी जनता से अपील कर दी।

इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मणिशंकर अय्यर की ‘नीच’ वाली टिप्पणी को लेकर भी कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘उन्होंने केवल कल ही पहली बार मुझे नीच नहीं कहा है, बल्कि सोनिया गांधी और उनके परिवार के सदस्यों ने इससे पहले भी मेरे लिए ऐसी भाषा का इस्तेमाल किया है। मैं नीच क्यों हूं… क्योंकि मैं गरीब परिवार में पैदा हुआ, क्योंकि मैं नीची जाती का हूं… क्योंकि मैं एक गुजराती हूं? क्या इसलिए वे लोग मेरे से नफरत करते हैं? आनंद शर्मा ने भी कहा था कि पीएम का दिमाग स्थिर नहीं है। एक कांग्रेस ने ऐसा ट्वीट रिट्वीट किया जिसके बारे में मैं बात भी नहीं कर सकता। दिग्विजय सिंह ने मेरे बारे में क्या ट्वीट किया था? आखिरकार एक गुजराती ने, एक गरीब परिवार के व्यक्ति ने उनको काफी परेशान किया है।’

इसके अलावा गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए बनासकांठा में आयोजित बीजेपी की एक रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि क्या मणिशंकर अय्यर उनकी सुपारी देने के लिए पाकिस्तान गए थे? पीएम मोदी ने अय्यर के पाकिस्तान दौरे पर सवाल खड़ा करते हुए कहा, ‘अय्यर जब पाकिस्तान गए थे तब उन्होंने लोगों से कहा था कि मोदी को रास्ते से हटाओ तभी भारत और पाकिस्तान के रिश्ते अच्छे होंगे। मुझे रास्ते से हटाने का मतलब क्या था? और मेरा क्या जुर्म है? यही कि मुझे लोगों का आशीर्वाद प्राप्त है। पाकिस्तान जाकर मुझे रास्ते से हटाने की बात बोलने का मतलब तो यही हुआ कि वह मेरी सुपारी देने के लिए पाकिस्तान गए थे?’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App