ताज़ा खबर
 

गुजरात में बच्चों की मौत पर डिप्टी सीएम ने दी सफाई, कहा- राज्य में शिशु मृत्यु दर 25 से कम

आंकड़ों पर प्रतिक्रिया जताते हुए राज्य के उप मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री नितिन पटेल ने कहा कि प्रति 1000 पर शिशु मृत्यु दर 30 है। मंत्री ने कहा, ‘‘प्रतिवर्ष 12 लाख शिशुओं का जन्म होता है।

Gujarat,Nitin Patel,गुजरात में बच्चों की मौत पर डिप्टी सीएम ने सफाई दी है।(फोटो- ANI)

गुजरात के राजकोट जिले में गत वर्ष दिसम्बर में 111 शिशुओं की मौत हो गई। यह जानकारी रविवार को एक अधिकारी ने दी।यह जानकारी पिछले महीने राजस्थान के कोटा स्थित एक राजकीय अस्पताल में 100 बच्चों की मौत की पृष्ठभूमि में सामने आयी है। इस मामले को लेकर गुजरात के डिप्टी सीएम नितिन पटेल ने सफाई  दी है।

पटेल ने सवालों पर कहा कि एक समय ऐसा भी था जब शिशु मृत्यु दर 55 प्रतिशत थी। उन्होंने कहा कि 2003 में 57%, 2007 में  52%, 2013 में 36% और 2017 में 30% बच्चों की मौत हुई।नितिन पटेल ने कहा कि 2019 में ये आंकड़ा 25 प्रतिशत के नीचे है।

वहीं, इस मामले पर राजकोट के पंडित दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक मनीष मेहता ने कहा, ‘‘आधिकारिक रिकार्ड के अनुसार राजकोट के पंडित दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल में पिछले वर्ष दिसम्बर में 111 शिशुओं की मौत हो गई। वहीं नवम्बर में 71 और अक्टूबर में 87 शशुओं की मौत हुई थी।’’ उन्होंने कहा कि दिसम्बर में शिशुओं की मौत के मामलों में बढ़ोतरी रेफर किये गए ऐसे मरीजों की संख्या में वृद्धि के चलते हुई जो गंभीर बीमारियों से पीड़ित थे।

फोटो-ANI

आंकड़ों पर प्रतिक्रिया जताते हुए राज्य के उप मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री नितिन पटेल ने कहा कि प्रति 1000 पर शिशु मृत्यु दर 30 है।
मंत्री ने कहा, ‘‘प्रतिवर्ष 12 लाख शिशुओं का जन्म होता है। इनमें से प्रत्येक 1000 में से 30 की मृत्यु कुपोषण, समय से पहले जन्म या माताओं के समय पर अस्पताल नहीं पहुंच पाने के चलते हो जाती है।’’

(भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 JNU में हिंसा: कैंपस में घुसकर नकाबपोशों ने छात्रों, शिक्षकों पर किया हमला, छात्र संघ की अध्यक्ष समेत कई छात्र घायल
2 भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के साथ मंच साझा करना ममता के विधायक को पड़ा भारी, पार्टी ने भेजा कारण बताओ नोटिस
3 नेपाल से सटे यूपी के तीन जिलों में हाई अलर्ट, दो वांछित आतंकियों के छिपे होने की आशंका
ये पढ़ा क्या?
X