ताज़ा खबर
 

GST का असर: LPG सिलेंडर के लिए अब और ढीली करनी होगी जेब

हर तरह के एलपीजी को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के अधीन लाने के साथ ही आने वाले माह से आम नागरिकों को घरेलू एलपीजी सिलिंडर के लिए अब अधिक कीमत चुकानी होगी।

प्रतीकात्मक फोटो (फाइल)

हर तरह के एलपीजी को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के अधीन लाने के साथ ही आने वाले माह से आम नागरिकों को घरेलू एलपीजी सिलिंडर के लिए अब अधिक कीमत चुकानी होगी। एक जुलाई से देशभर में लागू हो चुके जीएसटी के तहत चूंकि पेट्रोलियम को नहीं रखा गया है, लेकिन केंद्र सरकार ने उसी दिन स्पष्ट कर दिया था कि घरेलू और वाणिज्यिक एलपीजी जीएसटी के तहत कर के दायरे में होगा, जो अब जम्मू एवं कश्मीर को छोड़कर पूरे देश में प्रभावी हो चुका है। एलपीजी को सबसे निचले स्लैब पांच फीसदी कर के तहत रखा गया है। जीएसटी लागू होने से पहले अधिकतर राज्य एलपीजी पर कर नहीं लगाते थे, जबकि कुछ राज्य 2-4 फीसदी के बीच वैट लगाते थे। वहीं घरेलू एलपीजी पर सीमा शुल्क और उत्पाद शुल्क नहीं लगता था। अब जीएसटी लागू होने के बाद जिन राज्यों में जीएसटी पर कोई कर नहीं था, वहां प्रति सिलिंडर एलपीजी की कीमत 12 से 15 रुपये बढ़ जाएगी। वहीं जीएसटी लागू होने के बाद वाणिज्यिक एलपीजी की कीमत घट गई है, क्योंकि इसे जीएसटी के तहत 18 फीसदी टैक्स स्लैब में रखा गया है।

इससे पहले, वाणिज्यिक एलपीजी पर 22.5 फीसदी कर लगाया जाता था, जिसमें उत्पाद शुल्क के रूप में आठ फीसदी और 14.5 फीसदी का वैट शामिल था। जीएसटी लागू होने से पहले राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में जहां वाणिज्यिक एलपीजी का एक सिलिंडर 1,121 रुपये में मिलता था, वहीं जीएसटी लागू होने के बाद अब यह 1,052 रुपये में मिलेगा। वाणिज्यिक एलपीजी को जीएसटी के तहत 18 फीसदी के टैक्स स्लैब में रखने का मतलब है कि ऑटो रिक्शा वालों के लिए भी एलपीजी ईंधन सस्ता हो जाएगा।

वहीं टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, ठीक इसी तरह से बीते जून महीने से कुछ जगहों पर सब्सिडी कम करने से ग्राहकों के लिए एक सिलेंडर की कीमत और भी बढ़ जाएगी। खबर के मुताबिक ऑल इंडिया एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स फेडरेशन के राष्ट्रीय सचिव विपुल पुरोहित ने बताया, “आगरा में ग्राहकों को मिलने वाली सब्सिडी जहां 119.85 रुपये की है, वहीं नई नोटिफिकेश के बाद वह 107 रुपये हो जाएगी जो उनके बैंक खातों में पहुंचेंगे।” ऐसे में दोनों बदलाव होने से एक सिलेंडर की कीमत में लगभग 30 रूपये से ज्यादा का फर्क आ जाएगा।

Next Stories
1 इन पांच कारणों से अहम है पीएम नरेंद्र मोदी की इजराइल यात्रा
2 कॉन्डोम पर ज़ीरो टैक्स के बावजूद जीएसटी से देश के सबसे बड़े रेड लाइट एरिया पर पड़ेगा क्या असर, जानिए
3 असम: मुस्लिम से शादी करने वाली हिंदू महिला ने की आत्महत्या, कब्रिस्तान-श्मशान दोनों में नहीं मिली जगह, दो दिन पड़ा रहा शव
ये पढ़ा क्या?
X