ताज़ा खबर
 

GST काउंसिल की 28वीं बैठक: 46 सुधारों को मिली मंजूरी, स्मॉल टैक्सपेयर को भी दी बड़ी राहत, सैनिटरी नैपकिन पर टैक्स नहीं

वित्त मंत्री का अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे पीयूष गोयल ने पहली बार जीएसटी काउंसिल की अध्यक्षता की है। जीएसटी काउंसिल की बैठक में पीयूष गोयल, वित्त सचिव हसमुख अढ़िया और राज्य मंत्री वित्त ने इस बैठक में हिस्सा लिया है।

जीएसटी काउंसिल की बैठक को संबोधित करते केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल। फोटो- Twitter

देश के कर कानून जीएसटी पर चर्चा के लिए जीएसटी काउंसिल की 28वीं बैठक बुलाई गई थी। बैठक की अध्यक्षता वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने की। बैठक में कई अहम फैसले लिए गए हैं। बैठक में सैनिटरी नैपकिन से जीएसटी हटाने का फैसला किया गया है। जबकि 28% कर की श्रेणी में आने वाले कई उत्पादों की जीएसटी दरों में बदलाव भी किया गया है। जबकि शक्कर की मद पर सिर्फ रिपोर्ट लगाई गई है, फैसला नहीं किया गया है। कुल मिलाकर 35 उत्पादों पर जीएसटी की दर घटाने का फैसला किया गया है।

जीएसटी कानून के बारे में कारोबारियों की आम राय यही थी कि इसके नियम आसान नहीं हैं। लेकिन अब कारोबारियों के लिए जीएसटी रिटर्न आसान बनाने पर आम सहमति हो गई है। जीएसटी रिटर्न का फॉर्म सिर्फ 1 पेज का होगा। अब महीने में तीन बार की बजाय तीन महीने में एक बार ही रिटर्न दाखिल करना होगा। लेकिन ये छूट सिर्फ 5 करोड़ रुपये तक के टर्नओवर वाले कारोबारियों को ही मिलेगी।

आज होने वाली जीएसटी काउंसिल की बैठक में मार्बल या स्टोन से बनी देवी-देवताओं की मूर्तियों को भी जीएसटी से बाहर करने पर फैसला किया जाना था।  मिली जानकारी के मुताबिक जीएसटी काउंसिल की मीटिंग में 35 से ज्यादा उत्पादों पर जीएसटी रेट घटाए गए हैं। बताया जा रहा है कि बांस और बांस की फ्लोरिंग पर जीएसटी की दर 18 फीसदी से घटकर 12 फीसदी कर दी गई है।

इसके अलावा 28 फीसदी वाले कई प्रोडक्ट्स पर भी जीएसटी की दर को कम किया गया है. हालांकि अभी इसकी और जानकारी आनी बाकी है।  वित्त मंत्री का अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे पीयूष गोयल ने पहली बार जीएसटी काउंसिल की अध्यक्षता की है। जीएसटी काउंसिल की बैठक में पीयूष गोयल, वित्त सचिव हसमुख अढ़िया और राज्य मंत्री वित्त ने इस बैठक में हिस्सा लिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App