राजस्थान भाजपा में गुटबाज़ी: प्रदेश अध्यक्ष बोले- वसुंधरा ने कई जिलों में खड़ी की अपनी टीम

राजस्थान बीजेपी में अब गुटबाजी का खेल खुलकर सामने आने लगा है। प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष सतीश पूनिया ने भी इस बात को स्वीकार करते हुए कहा कि गुटबाजी की ख़बर केंद्रीय नेतृत्व को भी है।

satish punia, vasundhara rajeराजस्थान कांग्रेस में गुटबाजी? सतीश पुनिया का वसुंधरा पर आरोप। (फाइल फोटो)

राजस्थान बीजेपी में सबकुछ ठीक नज़र नहीं आ रहा है। अब पार्टी के बीच की ही गुटबाजी सामने आ रही है। राज्य में भाजपा के अध्यक्ष सतीश पूनिया ने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। बाद में सोशल मीडिया पर प्रदेश कार्यकारिणी और जिला कार्यकारिणी की सूचियां वायरल होने लगीं। इस मामले में सतीश पूनिया ने बताया कि पार्टी में ऐसी कोई परंपरा नहीं रही है कि समर्थक अपनी टीम घोषित कर दें। उन्होंने कहा, ‘वसुंधरा समर्थकों ने अपनी टीम बना ली है। इस मामले में केंद्रीय नेतृत्व को खबर है। हमें जैसा आदेश मिलेगा, वैसा ही किया जाएगा।’

सतीश पूनिया ने कहा, ‘वसुंधरा समर्थकों की तरफ से जारी सूची में संगठन के लोग नहीं हैं। इसमें वे लोग हैं जिन्हें कोई पहचानता भी नहीं है। हालांकि कुछ पूर्व विधायक भी इस लिस्ट में शामिल हैं।’ उन्होंने कहा कि इन सूचियों से संगठन को कोई फर्क नहीं पड़ता है। वहीं वसुंधरा समर्थक राजस्थान मंच का दावा है कि इन सूचियों को जारी करने से बीजेपी को ही फायदा होने जा रहा है। राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि इसके जरिए वह वसुंधरा सरकार के कामकाज को जनता के बीच पहुंचा रहे हैं।

राजस्थान की सियासी हलचल का अंदाजा तभी लग गया था जब वसुंधरा राजे को छोड़कर वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं को दिल्ली बुलाया गया। सतीश पूनिया के साथ गुलाब चंद कटारिया भी जेपी नड्डा से मिलने पहुंचे थे। उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौर भी दिल्ली पहुंचे थे। माना जा रहा है कि केंद्रीय नेतृत्व के इस फैसले से वसुंधरा समर्थकों में भी रोष है इसीलिए मुलाकात के तुरुंत बाद सूचियां सोशल मीडिया पर तैरने लगीं।

राजस्थान की राजनीति में यह नया नहीं है। इससे पहले अशोक गहलोत भाजपा पर आरोप लगा रहे थे कि सरकार को गिराने की साजिश की जा रही है। यह भी कयास लगाए जा रहे हैं कि जेपी नड्डा ने भी कांग्रेस सरकार को गिराने के लिए ही नेताओं को दिल्ली बुलाया था। सतीश पूनिया ने इसे सामान्य बैठक ही बताया है। बता दें कि बीजेपी में कई बातें वसुंधरा राजे के मन मुताबिक नहीं चल रही हैं। हाल ही में राजे के विरोधी घनश्याम तिवाड़ी भी बीजेपी में लौट आए हैं।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X