सीमा विवादः फोर्स हटाने को राजी हुए नगालैंड और असम, मिजोरम पुलिस पर सरमा बोले- बच्चों का काम है

असम और नगालैंड की सरकारें आज विवादित सीमा क्षेत्र से पुलिस फोर्स को हटाने पर सहमत हो गईं।

assam, nagaland
असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा। (फोटो-पीटीआई)।

असम और नगालैंड की सरकारें आज विवादित सीमा क्षेत्र से पुलिस फोर्स को हटाने पर सहमत हो गईं। यह घटनाक्रम ऐसे समय में हुआ है जब असम के मिजोरम के साथ दशकों पुराने सीमा विवाद में हिंसा भड़की गई थी। इस हिंसा में असम के छह पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी। फोर्स को वापस लेने का निर्णय असम और नगालैंड के मुख्य सचिव की दीमापुर में हुई एक बैठक के बाद लिया गया।

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने समझौते को “ऐतिहासिक कदम” करार दिया और नगालैंड के मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो को धन्यवाद दिया। सीएम ने कहा, “यह हमारे संबंधों में एक ऐतिहासिक कदम है। सीमा पर शांति बहाल करने में असम के साथ काम करने के लिए नेफ्यू रियो का आभार। असम अपनी सभी सीमाओं पर शांति सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है और पूर्वोत्तर क्षेत्र की सामाजिक और आर्थिक समृद्धि के लिए प्रयास करता है।”

वहीं, मिज़ोरम पुलिस द्वारा खुद पर FIR दर्ज करने पर असम के CM हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा , ‘ये बच्चों का काम है। जिस जगह झगड़ा हुआ था वो जगह असम की थी और है। इसलिए असम पुलिस का ही केस के लिए अधिकार बनता है। अगर कोई केस रजिस्टर हुआ है तो अच्छा है। दोनों सरकारों को केस NIA को दे देना सही है।’

मुख्य सचिवों द्वारा हस्ताक्षरित और सरमा द्वारा ट्वीट किए गए एक नोट के अनुसार, असम और नगालैंड के बीच तनाव की स्थिति, फोर्स के बीच गतिरोध को कम करने के उद्देश्य से बैठक आयोजित की गई थी। साथ ही दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए कि विवादित क्षेत्रों में शांति बनाए रखने और फोर्स के बीच गतिरोध को दूर करने के लिए तत्काल और प्रभावी कदमों की आवश्यकता है।

नोट के मुताबिक, दोनों पक्षों ने तय किया है कि सुरक्षाकर्मी वापस अपने बेस कैंपों में चले जाएंगे। इसमें कहा गया है कि फोर्स की वापसी तत्काल शुरू हो जाएगी और जहां तक ​​संभव हो अगले 24 घंटों में पूरी कर ली जाएगी।

आगे कहा गया है कि दोनों पक्ष यथास्थिति बनाए रखने के लिए यूएवी और सैटेलाइट इमेजरी का उपयोग करके क्षेत्र की निगरानी करेंगे।

बता दें कि असम नगालैंड के साथ पांच जिलों में सीमा साझा करता है। इन क्षेत्रों में पिछले कुछ दशकों से सीमा विवाद को लेकर लगातार संघर्ष होते रहे हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट