ताज़ा खबर
 

9 मिनट के बत्ती बंदी में ठप नहीं होंगे पॉवर ग्रिड, केंद्र ने बताया डिटेल प्लान, कहा- इन अप्लायंसेज को बंद न करें लोग

प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार रात 9 बजे देशवासियों से 9 मिनट के लिए लाइट बंद करने की अपील की है, इस पर बिजली कंपनियों ने ग्रिड फेल होने का डर जताया है।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: April 5, 2020 2:32 PM
पीएम मोदी के ऐलान के बाद बिजली कंपनियों को सता रहा ग्रिड फेल होने का डर।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से अपील की है कि वे रविवार को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए घर की लाइट बंद कर छतों और बाल्कनी पर दीये, टॉर्च या मोबाइल फ्लैशलाइट से रोशनी करें। पीएम ने कहा था कि कोरोनावायरस और लॉकडाउन के अंधेरे के बीच एकजुट होकर अंधकार को प्रकाश से चुनौती दें। पीएम मोदी की इस अपील पर जहां अलग-अलग राज्यों के इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड्स ने ग्रिड फेल होने की चिंता जताई है। वहीं सरकार ने इस स्थिति से निपटने के लिए पूरा प्लान तैयार किया है।

ऊर्जा मंत्रालय ने एजवायजरी जारी कर कहा, “भारत की इलेक्ट्रिसिटी ग्रिड मजबूत और स्थिर है और किसी भी तरह के वेरीएशन (बदलावों) से निपटने के लिए जरूरी इंतजाम और प्रोटोकॉल जारी कर दिए गए हैं। प्रधानमंत्री की सीधी अपील घरों की लाइट 9 बजे से 9:09 बजे तक बंद करने की है। उनकी अपील में न तो स्ट्रीट लाइट और न ही घर में लगे कंप्यूटर, टीवी, पंखे, फ्रिज और एसी बंद करने के लिए कहा गया है। सिर्फ लाइट बंद करने की अपील की गई है।”

“इसके अलावा हॉस्पिटल और कई जरूरी सेवाओं जैसे- सार्वजनिक स्थानों, नगरपालिकाओं से जुड़ी सेवा, दफ्तरों, पुलिस स्टेशनों और उत्पादन से जुड़ी फैसिलिटीज में लाइट्स जलती रहेंगी। प्रधानमंत्री ने लोगों से सिर्फ अपने घरों की बत्ती बंद करने के लिए कहा है। सभी स्थानीय संस्थानों को लोगों की सुरक्षा के लिए सड़कों पर लाइट जलाए रखने के लिए कहा गया है।”

देशभर में ग्रिड की व्यवस्थाएं देखने वाली पावर सिस्टम ऑपरेशन कॉर्प लिमिटेड ने पूरे भारत के लाइट लोड की मैपिंग की है और आशंका जताई है कि कुल 125-126 गीगावॉट्स खपत में 12-13 गीगावॉट खपत की कमी आ सकती है।

सामान्य ऑपरेशन के विपरीत 2-4 मिनट में ग्रिड में 12-13 गीगावॉट लोड की कमी आएगी। लेकिन 9 मिनट बाद 2-4 मिनट के अंदर ही ग्रिड दोबारा स्थिर हो जाएगी। इस लोड और रिकवरी को हाइड्रो और गैस के पावर सोर्स के जरिए संतुलित किया जाएगा। बिजली वितरक कंपनियों को फीडर स्विचिंग ऑपरेशन 8:00 बजे से 10 बजे तक नहीं करने के लिए कहा है।

क्या कहा था पीएम ने?
पीएम ने कहा था कि 5 अप्रैल को हम सबको मिलकर कोरोना के कोरोनावायरस से उभरे संकट के अंधकार को चुनौती देनी है। उसे प्रकाश की ताकत का परिचय कराना है। हमें 130 करोड़ देशवासियों की महाशक्ति का जागरण करना है। देशवासियों को महासंकल्प को नई ऊंचाइयों पर ले जाना है। पीएम मोदी के इस ऐलान के बाद बिजली कंपनियों में ग्रिड फेल होने का डर पैदा हो गया।
Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 ‘तब तो आप जिंदगी भर के लिए लॉकडाउन हो जाओगे’, राजदीप सरदेसाई ने की उद्धव ठाकरे की तारीफ तो उबल पड़े ट्रोल्स
2 वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से फास्ट डिशीजन, व्हाटसएप से मंजूरी, जानें- अरजेंसी में कैसे बड़े अफसर निबटा रहे काम, अफसरशाही में कॉमन हुआ VC और VPN
3 पाकिस्तान ATC ने की एयर इंडिया की तारीफ, कहा- कोरोना से जंग में तुम्हारे जज्बे को सलाम