ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी ने नोटबंदी को लेकर नरेंद्र मोदी पर ली चुटकी, लोगों से कहा- पीएमओ में वैकेंसी है, अप्‍लाई कर दो

राहुल गांधी ने गुरुवार शाम ट्वीट किया कि 'भारत सरकार गणित का ट्यूटर ढूंढ रही है। कृपया जल्‍द से जल्‍द पीएमओ में अप्‍लाई करें।'

Demonetisation, PMO, Note Ban, Rahul Gandhi, PMO, PMO Vacancy, demonetised notes, Urjit Patel, Narendra Modi, RBI, Parliament panel, Business News, Govt Jobs, Sarkari naukri, Hindi Newsराहुल ने आरबीआई की सुस्‍ती पर चुटकी लेते हुए यह ट्वीट किया।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर उर्जित पटेल बुधवार (12 जुलाई) को संसदीय समित‍ि के सामने पेश हुए थे। सांसदों के सामने पटेल ने कहा कि आरबीआई अभी तक नोटबंदी के बाद वापस लौटे नोटों की गिनती नहीं कर पाया है। पटेल से यह प्रश्न पूछा गया कि नोटबंदी के बाद 500 और 1000 रुपये के कितने पुराने नोट 30 दिसंबर तक वापस लौटे। सूत्रों के अनुसार, पटेल ने समिति को बताया कि पुराने नोटों को गिनने का काम लगातार जारी है और केंद्रीय बैंक गिनती के दौरान नकली नोट को छांटती जा रही है और इन नोटों के छांटने के लिए विशेष मशीनों की खरीद की गई है। अभी ऐसी कई मशीनों की खरीद की प्रक्रिया भी चल रही है। उन्होंने गिनती में देरी का दूसरा कारण यह बताया है कि जिला स्तरीय सहकारी बैकों तथा नेपाल से अभी भी पुराने नोट केंद्रीय बैंक के पास लौट रहे हैं। उन्होंने समिति के समक्ष कहा कि आरबीआई के कर्मचारी नोटों को गिनती के लिए ओवरटाइम कर रहे हैं और मशीनों की मदद भी ली जा रही है। पटेल ने कहा कि कुल 17.7 लाख करोड़ के पुराने नोट वापस लिए गए और 15.4 लाख करोड़ के नए नोट प्रचलन में वापस लौट गए हैं। इस पर कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने चुटकी लेते हुए गुरुवार शाम ट्वीट किया कि ‘भारत सरकार गणित का ट्यूटर ढूंढ रही है। कृपया जल्‍द से जल्‍द पीएमओ में अप्‍लाई करें।’

lang=”en” dir=”ltr”>GOI looking for a Math tutor. Please apply to PMO ASAP https://t.co/nO9IwUT1pS

— Office of RG (@OfficeOfRG) July 13, 2017

संसद की स्थायी समिति के सामने हाजिर हुए पटेल ने उन 12 उद्योगपतियों का नाम बताने से भी मना कर दिया, जिन पर बैंकों के कुल फंसे हुए कजोर्ं (एनपीए) का 25 फीसदी तक बकाया है। संसदीय समिति में समाजवादी पार्टी के सदस्य नरेश अग्रवाल आरबीआई गर्वनर के जबाव से असंतुष्ट होकर इस बैठक से निकल गए।

उन्होंने आरबीआई गर्वनर से उन 12 उद्योगपतियों का नाम बताने को कहा था जिनपर देश की बैंकिंग प्रणाली के फंसे हुए कर्जो (एनपीए) का 25 फीसदी बकाया है। संसदीय समिति की इस बैठक की अध्यक्षता कांग्रेस नेता एम. वीरप्पा मोइली ने की, जो तीन घंटे तक चली। इसके सदस्यों में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी मौजूद थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नहीं बल्कि इस शख्स से रोज बात करते हैं अमित शाह, जानिए क्यों
2 राम मंदिर मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत का बड़ा बयान- हम कोर्ट को नहीं मानते, अदालत से पूछकर नहीं किया था आंदोलन
3 चीन से तनातनी पर सरकार ने तैयार किया प्रेजेंटेशन, विपक्षी नेताओं के सामने पेश करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी के दो बड़े मंत्री
ये पढ़ा क्या?
X