ताज़ा खबर
 

गोरखपुर की घटना में केंद्रीय मंत्री ने किया साजिश का इशारा, बोले- दबाव के कारण मौतें हुईं

''9 तारीख से पहले की मौतें और 9-12 (अगस्‍त) के आंकड़े देखें तो समझ आएगा कि जो दबाव है, उस दबाव के कारण मौतें हुई हैं।''
केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण राज्‍य मंत्री, फग्गन सिंह कुलस्ते।

गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में तीन दिन के भीतर दर्जनों बच्‍चों की मौत (आंकड़ा स्‍पष्‍ट नहीं है) पर केंद्र की तरफ से साजिश का इशारा किया गया है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण राज्‍य मंत्री, फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा कि ‘इसमें किसी न किसी की साजिश भी हो सकती है।’ उन्‍होंने एएनआई से बातचीत में कहा, ”9 तारीख से पहले की मौतें और 9-12 (अगस्‍त) के आंकड़े देखें तो स्‍पष्‍ट रूप से समझ आएगा कि जो दबाव है, उस दबाव के कारण मौतें हुई हैं।” दूसरी तरफ, मामला गर्म होने के बाद एक बार फिर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ रविवार को गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज पहुंचे। वहां प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में योगी ने पूर्वांचल में हर साल सैकड़ों बच्चों की मौत का कारण बनने वाले मस्तिष्क ज्वर पर गहन शोध के लिये एक क्षेत्रीय वायरस अनुसंधान केन्द्र की स्थापना की जरूरत बताई। मुख्यमंत्री ने कहा “पूर्वी उत्तर प्रदेश की बनावट ऐसी है कि हम संचारी रोगों से लड़ाई को तब तक नहीं जीत सकते जब तक यहां पूर्णकालिक वायरस रिसर्च सेंटर नहीं बन जाता। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गोरखपुर को एम्स दिया है लेकिन यहां पूर्णकालिक वायरस रिसर्च सेंटर भी होना चाहिये।” योगी ने इंसेफेलाइटिस के खिलाफ अपनी लड़ाई के बारे में भावुक अंदाज में जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने बच्चों को मरते हुए देखा है। उन्होंने कहा “इस मुद्दे पर मुझसे अधिक संवेदनशील और कौन हो सकता है। मैंने इस मुद्दे को सड़क से संसद तक उठाया है। इस बीमारी की पीड़ा मुझसे ज्यादा और कौन समझेगा।”

मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि प्रदेश के 35 जिलों में 90 लाख से ज्यादा बच्चों के टीकाकरण का सघन अभियान शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद गोरखपुर मेडिकल कॉलेज का यह उनका चौथा दौरा है। उन्होंने मेडिकल कॉलेज में 30 बच्चों की मौत की घटना के विषय में मीडिया की ओर इंगित करते हुए गलत रिपोर्टिंग ना करने की सलाह दी।

योगी ने बताया कि प्रदेश के मुख्य सचिव और केन्द्रीय सचिव इस घटना की जांच करके रिपोर्ट देंगे। दिल्ली की उच्च स्तरीय टीम भी पूरे मामले की जांच कर रही हैं। रिपोर्ट आते ही घटना में संलिप्त लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी। जिम्मेदारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. K
    Kuldip singh
    Aug 13, 2017 at 8:04 pm
    Baba ambedkar ke savidhan mein sansdiy daakuon ke liye bharat lootne par vaajib sajaa kyon nahi bani ? ? ? ? ? ? ? ?
    (0)(0)
    Reply